विजिलेंस ने फर्जी रजिस्ट्रेशन नंबर पर ट्रांसपोर्ट टेंडर वाहन आवंटित करने के आरोप में पांच ठेकेदारों के खिलाफ मामला किया दर्ज

Spread the News

चंडीगढ़ – पंजाब विजिलेंस ब्यूरो द्वारा चलाए जा रहे भ्रष्टाचार विरोधी अभियान के दौरान फरीदकोट जिले के जैतो और कोटकपुरा की अनाज मंडियों के लिए परिवहन टेंडर स्वीकृत करने और अनियमितता करने के आरोप में दो मंडियों के पांच खाद्य ठेकेदारों सहित नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों और संबंधित खरीद एजेंसियों के कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

विजिलेंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि जांच के बाद ठेकेदार रिशु मित्तल, पवन कुमार ठेकेदार, विशु मित्तल ठेकेदार व प्रेमचंद ठेकेदार योगेश गुप्ता ठेकेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर अन्य आरोपियों व अन्य संदिग्धों की भूमिका पर विचार किया जाएगा।

उन्होंने और जानकारी देते हुए कहा कि जांच के दौरान पाया गया कि उक्त ठेकेदारों द्वारा वर्ष 2019-20 में भरे गए टेंडरों से जुड़ी ट्रकों की सूची में गलत रजिस्ट्रेशन नंबर दिए गए थे, जो कि वर्ष 2019-20 की निविदा नीति उप-पैरा के नोट 5 का उल्लंघन है। इन तथ्यों के अनुसार, विभाग की जिला निविदा समिति को संबंधित ठेकेदारों की तकनीकी बोली को अस्वीकार कर देना चाहिए था, जो नहीं किया गया, जो संबंधित अधिकारियों/कर्मचारियों और ठेकेदारों के बीच मिलीभगत को दर्शाता है। अनाज मंडियों में उक्त ठेकेदारों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच के दौरान अन्य आरोपियों व अन्य संदिग्धों की भूमिका पर विचार किया जाएगा।