विजिलेंस ने पांच हजार रुपये रिश्वत लेते ASI व निजी व्यक्ति को रंगेहाथ किया काबू

Spread the News

चंडीगढ़ : पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली राज्य सरकार द्वारा अपनाई गई भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति को ध्यान में रखते हुए, पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने अपने चल रहे अभियान के दौरान एक निजी व्यक्ति करमजीत सिंह कम्मा को बिजली चोरी के खिलाफ पुलिस स्टेशन पीएसपीसीएल, लुधियाना में तैनात एएसआई हरप्रीत सिंह की ओर से 5,000 की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

विजिलेंस ब्यूरो के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी एएसआई हरप्रीत सिंह और करमजीत सिंह को मंडी गोबिंदगढ़ जिला फतेहगढ़ साहिब निवासी तरलोचन सिंह की शिकायत पर गिरफ्तार किया गया है।

विवरण देते हुए उन्होंने बताया कि शिकायतकर्ता ने विजिलेंस से संपर्क किया है और आरोप लगाया है कि एएसआई अपने घरेलू बिजली चोरी के मामले को निपटाने के लिए 15,000 रुपये की रिश्वत मांग रहा था लेकिन सौदा 5,000 पर हुआ था। उन्होंने आगे बताया कि इस संबंध में मामला दर्ज किया गया है और आगे की जांच जारी है।