वीडियो मामले पर Chandigarh University की सफाई- लड़कियों की आत्महत्या करने वाली सभी खबरें झूठी

Spread the News

चंडीगढ़ : मोहाली की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाली छात्राओं के आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने के मामले को लेकर यूनिवर्सिटी के प्रो-चांसलर डॉ. आर.एस.बावा ने का आधिकारिक बयान आया सामने आया है। उन्होंने कहा कि, ‘ऐसी अफवाहें हैं कि 7 लड़कियों ने आत्महत्या कर ली है जबकि सच्चाई यह है कि किसी भी लड़की ने ऐसा कदम उठाने की कोशिश नहीं की है। घटना में किसी लड़की को अस्पताल में भर्ती नहीं कराया गया है।’

डॉ. बावा ने आगे कहा, “एक और अफवाह है जो मीडिया के माध्यम से फैल रही है कि विभिन्न छात्रों के 60 आपत्तिजनक एमएमएस पाए गए हैं। यह पूरी तरह से झूठ और निराधार है। यूनिवर्सिटी द्वारा की गई प्रारंभिक जांच के दौरान किसी भी छात्र का ऐसा कोई वीडियो नहीं मिला है जो आपत्तिजनक हो, सिवाय एक लड़की द्वारा शूट किए गए एक निजी वीडियो के, जिसे उसने अपने प्रेमी के साथ साझा किया था।”

अन्य छात्राओं के आपत्तिजनक वीडियो शूट करने की सभी अफवाहें पूरी तरह से झूठी और निराधार हैं। छात्रों के अनुरोध पर चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने स्वयं आगे की जांच पंजाब पुलिस विभाग को सौंप दी है, जिसने एक लड़की को हिरासत में लिया है और आईटी अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। आगे की जांच के लिए सभी मोबाइल फोन और अन्य सामग्री पुलिस को सौंप दी गई है। चंडीगढ़ विश्वविद्यालय जांच में पुलिस का पूरा सहयोग कर रहा है।

यह भी स्पष्ट किया जाता है कि विश्वविद्यालय हमारे सभी छात्रों विशेषकर हमारी बेटी जैसी छात्राओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध और सक्षम है।

Exit mobile version