रोहतक में साल 2011 के हत्याकांड मामले में 9 आरोपियों को अदालत ने सुनाई उम्रकैद की सजा

Spread the News

हरियाणा : रोहतक में साल 2011 में एक युवक की हत्या कर दी गई थी। हत्या के मामले में अदालत ने आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई है। साथ ही अदालत ने मृतक की पत्नी को एक लाख रूपए की आर्थिक सहायता देने का आदेश भी जारी किया है।

जानकारी के मुताबिक, हरियाणा के रोहतक में नौनंद गांव निवासी धर्मसिंह ने सांपला थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी कि दो अगस्त, 2011 को वह अपने खेतों की तरफ जा रहा था। उसी दौरान उसे अपने भाई सुरेश के चीखें सुनाई दी। वह अपने भाई की चीखें सुनकर उस दिशा की ओर गया तो उसने देखा कि कुछ लोग उसके भाई के साथ ईटों और लाठियों से मार पीट कर रहे है। जब उन लोगों ने उसे आते देखा तो वह उसके भाई को घायल अवस्था में छोड़कर भाग गए। उसके बाद उसके भाई राज और सतबीर भी वहां आ गए। उन्होंने सुरेश को पीजीआई में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृतक घोषित कर दिया। जिसके चलते थाने में हत्या का मामला दर्ज किया गया था। इस मामले में पुलिस पहले ही पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी थी। जिसके बाद में अदालत में सुनवाई के दौरान चार और लोगों को भी आरोपी घोषित किया गया है ।

इन्ही नौ आरोपियों मंजीत, रामचंद्र, कुलदीप, विजय, कप्तान, विनोद, राजेंद्र, मनोज तथा एक और व्यक्ति के खिलाफ अदालत में केस चल रहा था। जिसके चलते अदालत ने शनिवार को उक्त आरोपियों को हत्या का दोषी करारते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। इसके अलावा मृतक की महिला को 1 लाख रूपए की सहायता देने का आदेश भी अदालत द्वारा जारी किया है।