हरियाणा पंचायत चुनाव : पीपीपी डाटा मिला, विकास एवं पंचायत विभाग ने बीसी ए सीटें तय करनी शुरू की

Spread the News

चंडीगढ़: हरियाणा में पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव कराने के लिए पिछड़े वर्ग ए को जो आरक्षण दिया जाना है, उसकी सीटें तय करने में अभी विकास एवं पंचायत विभाग को चार-पांच दिन लगेंगे। परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) का डाटा विभाग को मिल गया है। हालांकि यह डाटा तो सात दिन से मिला हुआ था मगर कुछ पंचायतों में मतदान केंद्रों और मतदाताओं के डाटा का मिलान न होने के कारण फाइनल डाटा तैयार करने में देरी हो रही थी। दैनिक सवेरा ने इस संबंध में लगातार खबरें प्रकाशित भी की थीं। अब 16 सितंबर को यह फाइनल डाटा विभाग को मिल गया है। अब विभाग पिछड़ा वर्ग ए की सीटें तय करने में जुट गया है। शनिवार-रविवार को छुट्टी के दिन भी विभाग में इस पर काम हुआ है।

उम्मीद है कि पंचायत, पंचायत समिति और जिला परिषद अनुसार कुल सीटों, अनुसूचित जाति और पिछड़ा वर्ग ए की सीटों की अधिसूचना 22 सितंबर तक जारी हो सकती है। जिलावार पंचायत, पंचायत समिति और जिला परिषद सीटों की अधिसूचना जारी होगी। जब ये अधिसूचनाएं जारी हो जाएंगी, तब इन्हें जिला उपायुक्तों के पास भेजा जाएगा। सात दिन के नोटिस पर बीसी ए के वार्ड तय करने के लिए ड्रा निकाले जाएंगे। इसलिए ये ड्रा 30 सितंबर, 2022 से पहले निकल जाएंगे। जिला स्तर पर अनुसूचित जाति के लिए पंच, पंचायत समिति सदस्य, जिला परिषद सदस्य पदों के लिए वार्ड आरक्षित करने का काम लगभग पूरा हो गया है।

विकास एवं पंचायत विभाग ने बीसी ए के लिए पंच, सरपंच, पंचायत समिति सदस्य, जिला परिषद सदस्य की सीटों की संख्या तय करनी है, जिनके लिए ड्रा जिलों में निकाले जाएंगे। विकास एवं पंचायत निदेशालय ने अनुसूचित जाति के लिए सरपंच, पंचायत समिति अध्यक्ष और जिला परिषद प्रधान पद भी तय करने हैं। यह काम भी बीसी ए की सीटें तय करने के साथ पूरा हो जाएगा। जैसे ही आरक्षण का काम पूरा हो जाएगा, तब विकास एवं पंचायत विभाग की तरफ से राज्य चुनाव आयोग को सूचना भेज दी जाएगी। साथ में चुनाव कब तक कराए जाने हैं, इसकी अधिसूचना भी भेजी जाएगी।