अमृतसर: गुरु नानक देव अस्पताल से कैदी फरार, खराब सेहत का ड्रामा कर पुलिस को दिया चकमा

Spread the News

अमृतसर: अमृतसर का पुलिस प्रशाशन एक बार फिर से सुर्खियों में आ गया है। दरअसल खराब सेहत का ड्रामा कर अस्पताल में भर्ती हुआ कैदी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। बताया जा रहा है कि आरोपी चरणदीप सिंह उर्फ करण निवासी गांव चीमा बाठ को जब पुलिस वाले जेल छोड़ने के लिए गए तो जेल के डॉक्टर ने उसका मेडिकल करवाने के लिए सिविल अस्पताल रेफर कर दिया। सिविल अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा उसका इलाज करने की बजाय उसे गुरु नानक देव अस्पताल में रेफर कर दिया। गुरु नानक देव अस्पताल में भी उसका सीधे तौर पर इलाज करने की बजाय पुलिस वालों को इधर उधर भगाया गया । मौका मिलते ही आरोपी फरार हो गया।

वहीं इस मामले में थाना मजीठा रोड में केस दर्ज किया गया है। थाना रामबाग की पुलिस चौकी बस स्टैंड के इंचार्ज कुलवंत सिंह के अनुसार उन्होंने अपनी टीम के साथ नाकाबंदी की थी। इस नाका बंदी के दौरान 14 सितंबर को वाहन चोर गिरोह के दो सदस्य रणदीप सिंह उर्फ करण निवासी गांव चीमां बाठ और सरबजीत सिंह उर्फ आजाद निवासी गांव टागरा को गिरμतार किया था। दोनों से चोरी के वाहन बरामद किए गए थे। केस दर्ज करने के बाद अदालत में पेश किया गया। अदालत द्वारा एक अक्टूबर तक आरोपियों को जुडिशल रिमांड पर भेज दिया था। आरोपियों को जेल भेजने से पहले सिविल अस्पताल से मेडिकल करवाया गया।

मेडिकल करवाने के बाद जेल लेकर पहुंचे वहां पर जेल के डॉक्टरों द्वारा मेडिकल किया गया। जेल के डॉक्टरों ने सरबजीत सिंह उर्फ आजाद को जेल के वार्डन के हवाले कर अंदर भेज दिया और कर्ण की हाथ की उंगली पर चोट लगी होने का कारण बताकर एक्स-रे करवाने के लिए सिविल हॉस्पिटल रेफर कर दिया। सिविल अस्पताल में पहुंचे तो डॉक्टरों ने काफी देर इंतजार करवाने के बाद गुरु नानक देव अस्पताल में रेफर कर दिया। जब वह गुरु नानक देव अस्पताल में पहुंचे तो वहां से इमरजेंसी वार्ड में भेज दिया गया। इमरजेंसी वार्ड में काफी देर इंतजार करने के बाद आर्थो वार्ड नंबर 3 में रेफर कर दिया गया वह रात को 8:00 बजे गुरु नानक देव अस्पताल की आर्थो वार्ड में पहुंचे। ऑर्थो वार्ड में डॉक्टरों द्वारा कुछ दवाइयां लिखकर दी गई। हेड कांस्टेबल सतनाम सिंह को डॉक्टरों द्वारा लिखी गई दवा लेने के लिए अस्पताल से बाहर भेजा। इसी दौरान वह आरोपी करण के साथ अकेले रह गए ।मौका पाकर कारण ने उन्हें धक्का मार कर जमीन पर गिरा दिया। हथकड़ी समेत फरार हो गया। उन्होंने हेड कांस्टेबल सतनाम सिंह के साथ मिलकर आरोपी को पकड़ने का प्रयास किया। काफी तलाश की मगर उसका कोई पता नहीं चला। उन्होंने थाना मजीठा रोड में शिकायत की है। पुलिस द्वारा फरार हुए वाहन चोर करन के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। आरोपी की तलाश की जा रही है।