Group C के लिए 3 और 4 नवंबर को होगा Common Eligibility Test: Manohar Lal

Spread the News

ग्रुप-सी के लिए कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट 3 व 4 नवंबर को होगा। इसके बाद ग्रुप-सी के लिए दूसरे लेवल का टेस्ट आयोजित होगा। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यह घोषणा रविवार को सिरसा के चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित जन संवाद कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से रूबरू होते हुए की। पंचायती राज चुनाव से जुड़े एक सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा राज्य चुनाव आयोग को 30 नवंबर तक पंचायती राज चुनाव करवाने के लिए लिखा है। पिछड़ा वर्ग-ए के आरक्षण व महिलाओं की 50 प्रतिशत भागीदारी को लेकर कुछ लोग न्यायालय में चले गए थे। सर्वोच्च न्यायालय से आदेश के बाद सरकार ने पिछड़ा वर्ग-ए के लिए पंचायती चुनाव में आरक्षण निर्धारित करने के लिए आयोग का गठन किया था। इसकी रिपोर्ट आने के बाद सरकार ने अध्यादेश जारी किया है, जिसे राज्यपाल ने मंजूरी दे दी है। वार्डबंदी में रिजर्वेशन का कार्य जारी है। आने वाले दिनों में उपायुक्तों को वार्ड अनुसार रिजर्वेशन निर्धारित करने के आदेश जारी कर दिए जाएंगे। उपायुक्तों को इसके लिए एक सप्ताह का समय होता है। इसके बाद जल्द से जल्द चुनाव करवाए जाएंगे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने महंगाई कम करने के लिए पेट्रोलियम पदार्थों पर वैट कम करने के लिए राज्यों को कहा था। इसके बाद हरियाणा ने दो बार पेट्रोल-डीजल पर वैट की दरों को कम किया है। हरियाणा में अब भी पड़ोसी राज्यों से वैट कम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जन संवाद कार्यक्रमों का सिलसिला जारी रहेगा। इससे पहले रोहतक व करनाल में जन संवाद कार्यक्रमों का आयोजन किया जा चुका है। सिरसा में यह तीसरा कार्यक्र म था। जनता की शिकायतों को सुनने के लिए उपायुक्तों को भी प्रतिदिन 11 बजे से 1 बजे तक जन शिकायतों को सुनने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि बरसाती मौसम के बाद 6 विभाग सड़कों की मरम्मत का कार्य कर रहे हैं। इसमें लोक निर्माण विभाग, हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड, शहरी स्थानीय निकाय, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण व हरियाणा राज्य औद्योगिक व ढांचागत विकास निगम शामिल है। हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड द्वारा 650 किलोमीटर सड़कों का सुधार किया जा रहा है। हर विधानसभा क्षेत्र में सरकार द्वारा

25-25 करोड़ रुपए सड़कों की मरम्मत के लिए दिए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का दौर युग परिवर्तन का दौर है। ऐसे में बहुत सी सेवाएं ऑनलाइन हो रही हैं। ई-राष्ट्रीय कृषि बाजार भी उसी का हिस्सा है। अब किसान अपनी फसल इसके माध्यम से केरल से असम तक के व्यापारी को बेच सकते हैं। जहां उसे फसल के अच्छे भाव मिलेंगे। नशे पर पूछे गए प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने कहा कि 50 बैड का नशा मुक्ति एवं पुनर्वास केंद्र सिरसा के नागरिक अस्पताल में स्थापित किया जाएगा। सिरसा में अन्य जिलों की तुलना में ज्यादा व्यामशालाएं खोली हैं। इनकी संख्या यहां पर 81 हो गई है।