एक लाख लोगों को मकान देने की योजना पर कार्य कर रही है Haryana सरकार: Manohar Lal

Spread the News

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बताया कि जिन लोगों के पास मकान नहीं है, उनके सिर पर छत देना सरकार का लक्ष्य है। इसके लिए हाउसिंग फॉर आल विभाग सर्वे कर रहा है। सर्वे के बाद ऐसे लोगों को मकान दिया जाएगा। सरकार करीब 1 लाख मकान देने की योजना पर कार्य कर रही है। वह रविवार को यहां चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय आडिटोरियम में मुख्यमंत्री ने सिरसा जिले के लोगों की समस्याएं जन संवाद कार्यक्रम के दौरान सुन रहे थे। इस दौरान उन्होंने 227 शिकायतों को सुनकर उनका निवारण किया। महिला को ऐच्छिक कोष से दिए एक लाख जन संवाद कार्यक्रम के दौरान जब 9 किले जमीन की मालकिन एक महिला पेंशन बनवाने की फरियाद लेकर पहुंची तो मुख्यमंत्री ने कहा कि सिर्फ पात्र व्यक्ति को पेंशन का लाभ मिलेगा। जो व्यक्ति पात्र नहीं है, उसे यह लाभ नहीं दिया जाएगा।

उन्होंने महिला से कहा कि वह 9 किले जमीन की मालकिन है और ढाई लाख रुपए सालाना उसकी इनकम है, ऐसे में उसकी बुढ़ापा पेंशन नहीं बन सकती। महिला ने जब मुख्यमंत्री को अपनी तीन बेटियों के बारे में बताया तो मुख्यमंत्री ने तत्काल महिला को 1 लाख रुपए अपने एच्छिक कोटे से देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि महिला की पेंशन इसलिए नहीं बन सकती क्योंकि इसमें 5 किले जमीन तक की अनिवार्यता है। एक लाख रुपए की सहायता उसकी बेटियों को ध्यान में रखकर जरूर दी गई है। पटवारी को तत्काल सस्पेंड करने के दिए निर्देश एक शिकायतकर्ता की शिकायत पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने रानियां के पटवारी महेंद्र को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड करने के निर्देश दिए हैं।

शिकायतकर्ता ने बताया था कि उसके पिता ने 10 महीने पहले जमीन उसके नाम करवाई थी और पटवारी अब गिरदावरी दर्ज करने में आनाकानी कर रहा है। इस संबंध में वह सीएम विंडो पर भी शिकायत कर चुका है। मुख्यमंत्री ने तत्काल रानियां पटवारी महेंद्र को सस्पेंड करने और शिकायतकर्ता की गिरदावरी दर्ज करने के निर्देश दिए। एक शिकायत सुनते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने गांव के लिए ग्राम दर्शन पोर्टल और शहरों के लिए नगर दर्शन पोर्टल बनाया है। गांव और शहर के लोग अपने क्षेत्र से जुड़ी समस्याओं को इन पोर्टल पर डाल सकते हैं।

इससे सड़क, नाली, तालाब, पानी आदि की मांग डाली जा सकती है। एक अन्य शिकायत सुनते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि खेत की आखिरी टेल तक पानी पहुंचाने के लिए सरकार निरंतर कार्य कर रही है। कुछ जगहों पर पानी की चोरी करने की शिकायतें आ रही हैं। ऐसे लोगों पर विभाग द्वारा सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। विभाग ऐसा करने वालों पर तत्काल एफआईआर दर्ज करवाए। कुछ लोग बीच में पानी की चोरी कर लेते हैं, इससे आखिरी टेल तक पानी नहीं पहुंच पाता। मुख्यमंत्री ने किसानों को फव्वारा विधि से सिंचाई करने के लिए भी आह्वान किया। अवैध कब्जों पर सीएम ने कहा कि अवैध कब्जों की जमीन पर सख्त से सख्त कार्रवाई हो।

प्रदेश में कहीं भी अवैध कब्जा नहीं रहने दिया जाएगा। जहां अवैध कब्जा है, उन्हें नोटिस देकर तत्काल खाली करवाया जाए। इस दौरान सिरसा की सांसद सुनीता दुग्गल, विधायक गोपाल कांडा, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव वी.उमाशंकर, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव कृष्ण बेदी, उपायुक्त पार्थ गुप्ता, पुलिस अधीक्षक डॉ. अर्पित जैन, अतिरिक्त उपायुक्त सुशील कुमार, जिला नगर आयुक्त डॉ. किरण सिंह, एसडीएम सिरसा जयवीर यादव, एसडीएम ऐलनाबाद डॉ. वेद प्रकाश, एसडीएम कालांवाली उदय सिंह, एसडीएम डबवाली राजेश पुनिया, नगराधीश अजय सिंह सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।