भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच आज होगा पहला टी-20 मैच, तरजीह-11 में होंगे चौंकाने वाले बदलाव!

Spread the News

चंडीगढ़: आस्ट्रेलिया के खिलाफ मंगलवार से शुरू होने वाली तीन टी-20 मैचों की शृंखला में भारत विश्व कप से पहले अपने सबसे छोटे प्रारूप के उचित संयोजन विशेषकर मध्यक्रम से जुड़े मसले को सुलझाने का प्रयास करेगा। विश्व कप से पहले होने वाले 6 मैचों में कुछ तेज गेंदबाजों को भले ही विश्राम दिया गया है, लेकिन इसे छोड़कर भारत अपनी मजबूत टीम के साथ ही उतर रहा है।

आस्ट्रेलिया के बाद भारत तीन मैचों के लिए दक्षिण अफ्रीका की मेजबानी करेगा। टी-20 प्रारूप में लचीलापन बनाए रखना महत्वपूर्ण होता, लेकिन कप्तान रोहित शर्मा पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि आस्ट्रेलिया में होने वाली आई.सी.सी. प्रतियोगिता से पहले उनके खिलाड़ी सभी सवालों का जवाब ढूंढने का प्रयास करेंगे। भारत ने भले ही एशिया कप में अच्छी बल्लेबाजी की, लेकिन उसने इस दौरान कई बदलाव भी किए।

गेंदबाजी में टीम-इंडिया की कमजोरियां
भारत की गेंदबाजी की कमजोरियां भी इस टूर्नामैंट में खुलकर सामने आईं, लेकिन हर्षल पटेल और जसप्रीत बुमराह की वापसी से आक्रमण को मजबूती मिली है। रोहित ने साफ कर दिया कि विश्व कप में उनके साथ के.एल. राहुल ही पारी का आगाज करेंगे, लेकिन यहां संभावना है कि उनके साथ विराट कोहली पारी की शुरुआत करने के लिए उतरें। अपनी पिछली टी-20 पारी में शतक जड़ने वाले कोहली को सलामी बल्लेबाजी के रूप में उतारा जा सकता है।

पंत को कार्तिक पर तरजीह
ऋषभ पंत या दिनेश कार्तिक भारतीय बल्लेबाजी क्रम में चोटी के चार बल्लेबाज तय हैं, लेकिन अभी यह तय नहीं है कि अंतिम एकादश में विकेटकीपर के रूप में ऋषभ पंत को चुना जाएगा या दिनेश कार्तिक को। रविंद्र जडेजा के चोटिल होने के कारण भारत पंत को बाएं हाथ का बल्लेबाज होने के कारण कार्तिक पर तरजीह दे सकता है। कार्तिक ‘फिनिशर’ की भूमिका के लिए टीम में लिए गए हैं। उन्हें एशिया कप में बल्लेबाजी का बमुश्किल मौका मिला था, लेकिन टीम प्रबंधन अगले दो सप्ताह में उन्हें क्रीज पर कुछ समय बिताने का अवसर दे सकता है।