उड़ानों पर रोक का दिखा असर, 80 पायलटों को बिना वेतन के छुट्टी पर भेजा

Spread the News

स्पाइसजेट एयरलाइन उड़ानों की रोक के कारण भारी घाटे में चल रही है। उसका घाटा लगातार बढ़ता जा रहा है। जिसके चलते एयरलाइन ने 80 पायलटों को बिना वेतन के छुट्टी पर भेज दिया है।

बता दें कि बीते 27 जुलाई 2022 को विमानन नियामक डीजीसीए स्पाइसजेट विमानों में लगातार आ रहीं तकनीकी खराबियों के बीच बड़ा एक्शन लेते हुए 8 हफ्तों के लिए 50% उड़ानों पर रोक लगा गई है। सूत्रों ने कहा कि स्पाइसजेट ने 80 पायलटों को बिना वेतन के छुट्टी पर भेज दिया है। जिसमे से लगभग चालीस B737 विमान पायलटों और लगभग चालीस Q400 विमान पायलटों है, जिन्हे तीन महीने के लिए बिना वेतन के छुट्टी पर भेजा गया है। एयरलाइन पिछले 4 साल से घाटे में चल रही है। स्पाइसजेट को FY19, FY20, FY21 और FY22 में 316 करोड़ रुपये, 934 करोड़ रुपये, 998 करोड़ रुपये और 1,725 ​​करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। DGCA ने कहा था कि अगर भविष्य में स्पाइसजेट एयरलाइन 50 फीसदी से ज्यादा उड़ानें चाहती है, तो उसे ये साबित करना होगा कि अतिरिक्त भार उठाने की क्षमता उसके पास है। बता दें स्पाइसजेट के बेड़े में 90 विमान शामिल हैं, लेकिन डीजीसीए के आदेश के बाद से कंपनी 50 विमान ही ऑपरेट कर रही है।