विशेष विधानसभा सत्र रद्द करने पर Kejriwal ने कहा, एक तरफ़ संविधान-दूसरी तरफ़ ‘Operation Lotus’

Spread the News

पंजाब के राज्य्पाल बनवारी लाल पुरोहित ने 22 सितंबर को बुलाए गए विशेष सत्र की इजाज़त को वापिस ले लिया है, जिसकी अरविंद केजरीवाल ने निंदा की है। केजरीवाल ने कहा कि “राज्यपाल कैबिनेट द्वारा बुलाए सत्र को कैसे मना कर सकते हैं? फिर तो जनतंत्र खतम है। दो दिन पहले राज्यपाल ने सत्र की इजाज़त दी। जब ऑपरेशन लोटस फ़ेल होता दिखाई दिया और संख्या पूरी नहीं हुई तो ऊपर से फ़ोन आया कि इजाज़त वापिस ले लो। आज देश में एक तरफ़ संविधान है और दूसरी तरफ़ ऑपरेशन लोटस।”

बता दें कि विपक्ष के नेताओं प्रताप सिंह बाजवा, विधायक सुखपाल सिंह खैरा एवं भाजपा पंजाब अध्यक्ष अश्वनी शर्मा द्वारा पंजाब के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित को लिखे गए पत्र के बाद उन्होंने 22 सितंबर को होने वाला विशेष विधानसभा सत्र रद्द कर दिया है। राज्यपाल को पत्र लिखकर में इन नेताओं ने कहा है कि राज्य सरकार के पक्ष में सिर्फ ‘विश्वास प्रस्ताव’ पेश करने के लिए विशेष सत्र बुलाने का कोई कानूनी प्रावधान नहीं है। बाकायदा, इस मामले पर कानूनी राय ली गई है।