Raghav Chadha ने की विधानसभा सत्र रद्द करने की निंदा, कहा-ऐसे तो संसदीय लोकतंत्र हो जाएगा ठप

Spread the News

राज्यपाल द्वारा विधानसभा सत्र की इजाज़त न देने पर राघव चड्डा ने निंदा करते हुए कहा कि “राज्यपाल मंत्रिपरिषद की सहायता और सलाह से बंधे होते हैं और इन मामलों में उनके पास कोई विवेक नहीं होता है। भारत में संसदीय लोकतंत्र ठप हो जाएगा यदि माननीय राज्यपाल विधानसभा सत्र आयोजित करने जैसे मामलों में विवेक का प्रयोग करना शुरू कर दें।”