पिछड़ा वर्ग के कल्याण के लिए गठबंधन सरकार गंभीर : डिप्टी सीएम Dushyant Chautala

Spread the News

हिसार: प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि गठबंधन सरकार पिछड़ा वर्ग के कल्याण के लिए पूरी तरह गंभीरता से कार्य कर रही हैं। उन्होंने कहा कि इस दिशा में सरकार ने बीसीए वर्ग को पंचायत चुनाव में आरक्षण दिया है। इससे बीसीए वर्ग के लोगों को पंचायती राज संस्थाओं में और अधिक प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलेगा। वे बुधवार को हिसार में जेजेपी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ की प्रदेश कार्यकारिणी बैठक को संबोधित कर रहे थे। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने पार्टी के द्वारा चलाए जा रहे ‘एक बूथ एक सखी’ और ‘एक बूथ एक योद्धा’ अभियान में पिछडा वर्ग की अहम भूमिका होने की बात कही। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जननायक चौ देवीलाल के समय से पिछड़े वर्ग का स्नेह, सहयोग और समर्थन उनके परिवार को मिलता रहा है।

उन्होंने कहा कि जेजेपी के गठन के समय भी इस वर्ग की अहम भागीदारी रही और पिछले विधानसभा चुनावों में जेजेपी के 16 उम्मीदवार पिछड़ा वर्ग समाज से थे। उन्होंने कहा कि आज भी संगठन की मजबूती के लिए दिन रात लगे हुए हैं। चौटाला ने पिछड़ा वर्ग को पार्टी की ताकत बताते हुए प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों को बूथ स्तर पर महिलाओं और युवाओं को और ज्यादा संख्या में पार्टी से जोडने का आह्वान किया ताकि आने वाले समय में संगठन को और मजबूत बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि गठबंधन सरकार में होते हुए पिछड़े वर्ग के अधिकारों के लिए वे सदैव तत्पर रहते हैं और उनका प्रयास है कि केंद्र की तर्ज पर प्रदेश में भी पिछड़े वर्ग को आरक्षण में पूरा हक दिलवाया जाए।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी पंचायत चुनावों में पार्टी से जुड़े पिछडेÞ वर्ग के साथियों को पंचायत प्रतिनिधि बनवाएं ताकि गांव की सरकार में संगठन के साथ-साथ पिछडे वर्ग की महत्वपूर्ण भागीदारी हो सके। उन्होंने कहा कि जब समाज के हर स्तर पर पिछड़े वर्ग की भागीदारी होगी तो समाज का सर्वांगीण विकास होना भी तय हो जाएगा। इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय संगठन सचिव राजेन्द्र लितानी, महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश संयोजक शीला भयाण, राष्ट्रीय सचिव राममेहर ठाकुर, बीसी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कृष्ण गंगवा, प्रदेश प्रभारी ज्ञान सिंह, जिलाध्यक्ष रमेश गोदारा, जिला प्रभारी मास्टर तारा चन्द, पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष सजन लावट सहित बीसी प्रकोष्ठ के सभी जिलाध्यक्ष, हलकाध्यक्ष सहित प्रदेश कार्यकारिणी के सैंकड़ों सदस्य उपस्थित थे।