अंकिता हत्याकांड: पिता ने पोस्टमॉर्टम की फाइनल रिपोर्ट आने तक अंतिम संस्कार से किया मना

श्रीनगर-गढ़वाल: पौड़ी के श्रीनगर में ITI घाट पर अंकिता भंडारी के अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही है। हालांकि, अंकिता के पिता ने पोस्टमार्टम की फाइनल रिपोर्ट मिलने तक बेटी का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया है। फिलहाल प्रोविशनल पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई है, जिसमें मौत से पहले मारपीट की पुष्टि हुई है और मौत का कारण डूबना बताया गया है। अंकिता के परिजनों ने उत्तराखंड सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं। परिजनों का कहना है कि सबूत मिटाने के लिए रिजॉर्ट में तोड़फोड़ की गई।

अंकिता के पिता वीरेंद्र भंडारी ने बेटी का अंतिम संस्कार करने से मना करते हुए कहा कि ‘‘सरकार ने आधी रात को बुलडोजर चलाकर सबूतों के साथ छेड़छाड़ किया है। अंकिता का अंतिम संस्कार तभी होगा, जब पोस्टमार्टम की फाइनल रिपोर्ट मिलेगी। फिलहाल जो पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई है, उससे मैं संतुष्ट नहीं हूं। इस केस में फास्ट ट्रैक कोर्ट के जरिए दोषियों को फांसी की सजा दी जाए।’’

अंकिता भंडारी हत्याकांड से पूरे प्रदेश के लोगों में आक्रोश है। श्रीनगर-गढ़वाल के आईटीआई घाट पर दूर-दराज से लोगों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है। हत्याकांड के विरोध में श्रीनगर व्यापार सभा ने बाजार बंद रखा है। शहर में माहौल गमगीन है। आईटीआई घाट पर भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है।

बता दें कि अंकिता की हत्या का आरोप राज्य के पूर्व मंत्री विनोद आर्य के बेटे पुलकित पर है। 19 साल की अंकिता उसके रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट थी। वह 17 सितंबर की रात करीब 8 बजे पुलकित आर्य, उसके रिजॉर्ट मैनेजर सौरभ भास्कर और अंकित उर्फ ​​पुलकित गुप्ता के साथ ऋषिकेश गई थी। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया है और इन पर हत्या की धाराएं लगाई गई हैं। फिलहाल कोर्ट ने तीनों को ज्यूडिशियल कस्टडी में भेज दिया है।