अब बारिश से फसलों को नुकसान, बेमौसम बरसात से फसलों की गुणवत्ता पर पड़ेगा असर

Spread the News

चंडीगढ़: पंजाब में कई स्थानों पर मूसलाधार बारिश से खरीफ की फसलों, खासतौर से धान और कपास, को नुक्सान पहुंच सकता है। कृषि विशेषज्ञों की मानें तो बेमौसम बरसात से फसलों की कटाई में देरी के अलावा न केवल उपज पर, बल्कि फसल की गुणवत्ता पर भी असर पड़ेगा। वहीं पंजाब और हरियाणा के कई हिस्सों में बारिश के कारण पारा कुछ डिग्री तक गिर गया है।

मौसम विभाग के अनुसार पंजाब के लुधियाना, मोहाली, पटियाला, मानसा, फतेहगढ़ साहिब, संगरूर, अमृतसर और बठिंडा तथा हरियाणा के कैथल, कुरुक्षेत्र, करनाल, अंबाला और सोनीपत में बारिश हुई। कृषि विशेषज्ञों का कहना है कि अगर कुछ और दिनों तक बेमौसम बरसात होती रही तो इससे धान तथा कपास दोनों की फसलों पर असर पड़ेगा। पंजाब के कृषि विभाग के निदेशक गुरविंदर सिंह ने कहा, ‘अगर इस समय बारिश 2-3 दिन और होती रही तो इससे खरीफ की फसलों पर असर पड़ेगा। इससे धान की फसल की कटाई के वक्त उसकी उपज तथा गुणवत्ता पर असर पड़ेगा।’ पंजाब कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डा. एस.एस. गोसाल ने कहा, ‘‘इस स्तर पर बारिश का धान की फसल पर नकारात्मक असर पड़ेगा।’ विशेषज्ञों का कहना है कि इससे फसल में अतिरिक्त नमी का स्तर बढ़ जाएगा, जिससे उसकी गुणवत्ता पर असर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि बारिश का कपास की फसल पर भी असर पड़ेगा।

फसलें बिछने से किसान चिंतित

3 दिन से पड़ रही भारी बारिश ने खड़ी फसलों को काफी नुक्सान पहुंचाया है। कई इलाकों में फसल पानी में डूबने और तेज बारिश में बिछ जाने से किसानों को भारी नुक्सान हुआ है। पिछले 24 घंटों में पश्चिमोत्तर क्षेत्र में कुछ स्थानों पर हल्की से औसत बारिश हुई। चंडीगढ़ में पिछले 24 घंटों में लगातार हल्की बारिश होती रही तथा शनिवार सुबह से ही बारिश की झड़ी लगी है जिससे आम जनजीवन पर असर पड़ा। चंडीगढ़ 30 मि.मी., बठिंडा में 60 मि.मी., पटियाला 44 मि.मी., अमृतसर 30 मि.मी., पठानकोट 33 मि.मी. सहित कई स्थानों पर बारिश हुई। बता दें कि धान खरीद सीजन 1 अक्तूबर से शुरू होने जा रहा है लेकिन पकी फसलें खराब होने तथा भीगने से खरीद में देरी हो सकती है। मौसम केंद्र के अनुसार हरियाणा में अगले 2 दिन अनेक स्थानों पर जोरदार बारिश तथा पंजाब में कहीं-कहीं बारिश की संभावना है। उधर हिमाचल में मानसून ने तबाही मचा रखी है। प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में मेघ जमकर बरसे इस दौरान जगह-जगह भूस्खलन होने की सूचना है। ताजा जानकारी के मुताबिक चंबा के होली के घरोंडा फेरनाला में बादल फटने से करीब 55 भेड़ बकरियां बह गई हैं।