श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने की नयी पहल, नवरात्रि के दौरान दिव्यांग श्रद्धालुओं को दी जाएगी घोड़े और बैटरी कार की मुफ्त सेवा

Spread the News

जम्मू-कश्मीर के त्रिकूटा पहाड़ियों पर स्थित श्री माता वैष्णो देवी का भवन नवरात्रि के पावन महोत्सव के लिए तैयार हो गया है। बता दें कि सोमवार से शुरू हो रहे नवरात्रि के दौरान देश-विदेश से करीब तीन लाख भक्तों के वैष्णो देवी धर्मस्थल पर पहुंचने की उम्मीद है, ऐसे में श्री वैष्णो देवी श्रइन बोर्ड इस भीड़ के मद्देनजर सुरक्षा से लेकर अन्य आवश्यक तैयारियां कर रहा है।

बोर्ड के अध्यक्ष मनोज सिन्हा ने 31 अगस्त को श्रद्धालुओं के लिए रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) प्रणाली की शुरुआत की थी।आरएफआईडी नए साल पर वैष्णो देवी में मची भगदड़ के बाद के श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मंजूर की गई है। इस भगदड़ में 12 लोगों की मौत हुई थी जबकि 16 अन्य घायल हुए थे। बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंशुल गर्ग ने बताया कि हमने दो नियंत्रण कक्ष बनाए हैं और भवन तक जाने के रास्ते में कुल 120 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, ताकि भीड़ को नियंत्रित किया जा सके। आरएफआईडी कार्ड प्रणाली श्रद्धालुओं के लिए अनिवार्य है और इससे भीड़ को नियंत्रित करने और वास्तविक समय में श्रद्धालुओं पर नजर रखने में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि धाम के आसपास के इलाकों को नवरात्र के लिए फूल और रोशनी से सजाया गया है। गर्ग ने बताया कि दिव्यांग श्रद्धालुओं को भवन तक पहुंचने के लिए मुफ्त में घोड़े और बैटरी कार सेवा की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। उन्होंने कहा श्रइन बोर्ड द्वारा यह नयी पहल की गई है और हमने विशेष आवश्यकता वाले लोगों की मदद के लिए हेल्प डेस्क स्थापित की है। उन्हें भवन में दर्शन के लिए प्राथमिकता दी जाएगी।