चच्यांग प्रांत में विनिर्माण उद्योग के संवर्धक चीनी राष्ट्रपति

Spread the News

अक्तूबर 2002 में शी चिनफिंग पूर्वी चीन के चच्यांग प्रांत गये, और वहां लगभग साढ़े 4 सालों में वे क्रमशः इस प्रांत में उप शीर्ष नेता, कार्यवाहक गवर्नर, और शीर्ष नेता बने।चच्यांग की पारंपरिक “व्यापार केंद्रित” संस्कृति है और यह पूर्वी चीन में एक आर्थिक रूप से विकसित प्रांत है। नवम्बर 2001 में, चीन ने विश्व व्यापार संगठन में भाग लिया। हालांकि यह चीन को विकास के अवसर प्रदान करता है, लेकिन बड़ी चुनौतियां भी पैदा करता है। अंतरराष्ट्रीय स्पर्धा शक्ति को कैसे उन्नत किया जाए? डब्ल्यूटीओ में भागीदारी से चच्यांग के औद्योगिक उन्नयन को कैसे बढ़ावा दिया जाए? इस प्रांत में आर्थिक विकास और पर्यावरण संरक्षण के बीच मौजूद अंतर्विरोध को कैसे समाधान किया जाए? शी चिनफिंग हमेशा इन सवालों पर चिंतन करते थे।

5 जनवरी 2007 को, चच्यांग प्रांत के शीर्ष नेता के रूप में शी चिनफिंग चच्यांग विश्वविद्यालय गए। नववर्ष के बाद यह उनकी पहली शोध गतिविधि थी, जिसका मुख्य शब्द “जूते” थे। उस समय चच्यांग प्रांत जूते निर्माण उद्योग की चीन में बाजार हिस्सेदारी का लगभग 40 प्रतिशत और दुनिया में 20 प्रतिशत हिस्सा था, लेकिन उद्योग का निम्न समग्र विकास स्तर, बढ़ती श्रम लागत और कच्चे माल की बढ़ती कीमतें आदि कारणों से कंपनियों का मुनाफा कम था। चच्यांग विश्वविद्यालय में कंग वेइतुंग नाम के प्रोफेसर हैं, जो कंप्यूटर एडेड प्रोडक्ट डिजाइन के क्षेत्र में शोध करते हैं। वे जूते कारखाने के साथ उत्पादन और अनुसंधान वाले सहयोग करते थे। उन्होंने स्वतंत्र रूप से एक औद्योगिक सॉफ्टवेयर विकसित किया है जो पैरों की छवियों के आधार पर सटीक 3डी मॉडल उत्पन्न कर सकता है। इस मॉडल से बने जूते ग्राहक के पैर के आकार में सटीक रूप से फिट हो सकते हैं। इस नई तकनीक के साथ, जूते के व्यक्तिगत अनुकूलन को बखूबी अंजाम दिया जा सकता है, जो न केवल ग्राहकों की उच्च-गुणवत्ता की जरूरतों को पूरा करता है, बल्कि कचरे को भी कम करता है और उद्योग के अतिरिक्त मूल्य को बढ़ाता है।

शी चिनफिंग चच्यांग प्रांत में पारंपरिक विनिर्माण के परिवर्तन और उन्नयन में मदद करने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी के उपयोग पर विचार कर रहा है। प्रोफेसर कंग वेइतुंग की इस परियोजना पर उन्होंने ध्यान दिया और चच्यांग विश्वविद्यालय के निरीक्षण दौरे पर उन्होंने कंग वेइतुंग से कई सवाल पूछे, दोनों बातचीत करते हुए सवाल-जवाब करते रहे। 2002 में चच्यांग में आने के बाद शी चिनफिंग इस प्रांत में विनिर्माण उद्योग का परिवर्तन और उन्नयन को लगातार बढ़ाते रहे थे। उस समय चीन ने ब्ल्यूटीओ में भाग लिया और विभिन्न उद्योगों को अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा था। चच्यांग में उद्यमों के उपकरण निर्माण स्तर में सुधार कैसे किया जाए? कई स्थलों का निरीक्षण दौरा करने के बाद शी चिनफिंग ने निष्कर्ष निकाला, यानी कि चच्यांग को उन्नत विनिर्माण अड्डों के निर्माण में तेजी लानी चाहिए। उन्होंने यह भी प्रस्ताव दिया कि डब्ल्यूटीओ में शामिल होने के बाद, चच्यांग को अंतरराष्ट्रीय सहयोग और प्रतिस्पर्धा में बड़े पैमाने पर और गहरे स्तर पर भाग लेने के लिए अधिक सक्रिय रवैया अपनाना चाहिए।

इस प्रांत में विनिर्माण उद्योग को बढ़ावा देने के लिए शी चिनफिंग ने कई प्रयास किए। उन्होंने घरेलू और विदेशी पूंजी को आकर्षित करने के कार्य तंत्र में सुधार किया, और देसी-विदेशी उच्च गुणवत्ता वाली पूंजी, उन्नत प्रौद्योगिकी, उत्कृष्ट प्रतिभा और आधुनिक प्रबंधन आदि संसाधनों का उपयोग कर चच्यांग प्रांत के औद्योगिक विकास के स्तर को लगातार सुधार किया। इसके साथ ही उन्होंने चच्यांग में स्थानीय उद्यमों को बाहर जाने और विनिर्माण के स्तर में सुधार के लिए अन्य घरेलू इलाकों और अंतरराष्ट्रीय बाजारों में अनुसंधान व विकास केंद्र स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया। शी चिनफिंग के औद्योगीकरण की नई राह पर चलने के रणनीतिक मार्गदर्शन में चच्यांग की औद्योगिक संरचना “निम्न-स्तर और छोटे पैमाने” से “उच्च-परिशुद्धता” में परिवर्तित हो गई है। उनके नेतृत्व में चच्यांग प्रांत के विनिर्माण उद्योग ने “उच्च-गुणवत्ता” वाले विकास साकार किया।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)