चंडीगढ़ एयरपोर्ट का नाम शहीद भगत सिंह के नाम पर रखना सच्ची श्रद्धांजलि: पवन सैनी

Spread the News

अमृतसर : ऑल इंडिया एंटी टेररिस्ट फ्रंट अमृतसर यूनिट ने शहीद-ए-आजम भगत सिंह की जयंती पर संगठन मकबूल रोड के कार्यालय में श्रद्धांजलि समारोह का आयोजन किया। इस मौके पर मुख्य अतिथि आतंकवाद निरोधी संगठन पंजाब के महासचिव पवन सैनी थे। इस अवसर पर मौजूद संगठन के सदस्यों और पदाधिकारियों ने भगत सिंह की तस्वीर पर फूलों की माला पहनाकर श्रद्धांजलि दी और “शहीद भगत सिंह अमर रहे” और “देश के शहीद अमर रहे” के नारे लगाए।

इस मौके पर मौजूद सदस्यों को संबोधित करते हुए पवन सैनी ने कहा कि शहीद भगत सिंह का जन्म 28 सितंबर 1907 को लायलपुर, लाहौर (पाकिस्तान) में हुआ था। भगत सिंह ने अन्य क्रांतिकारियों के साथ देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी। भगत सिंह ने असेंबली में बम फेंक कर ब्रिटिश हुकूमत को झकझोर कर रख दिया था, जिससे 23 मार्च 1931 को भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव को फाँसी पर लटका कर शहीद कर दिया गया था।

प्रधानमंत्री द्वारा चंडीगढ़ हवाई अड्डे का नाम भगत सिंह के नाम पर रखना सराहनीय और शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि है। आज के दौर में आतंकवादियों, गैंगस्टरों और तस्करों का गठजोड़ देश की एकता और अखंडता के लिए बहुत बड़ा खतरा है। बेशक, केंद्र और राज्यों की ताकतें इसे नियंत्रित करने के लिए पूरी कोशिश कर रही हैं, लेकिन देश को इस खतरे को नियंत्रित करने के लिए लोगों के योगदान की भी जरूरत है, ताकि देश को इस आसन्न खतरे से बचाया जा सके।

इस मौके पर कवलजीत भुल्लर, अशोक शाही, तजिंदर हैप्पी, गुरतीर्थ सिंह, बलबीर सिंह, सोमनाथ, सरिंदरपाल, अशोक कुमार, सतराल, कुलदीप राज, भूषण जडियाला, रघुबीर सिंह, प्रेम मसीह, लखविंदर वेरका, मंदीप सिद्धू, हरीश महाजन, कार्तिक शर्मा, राजू, सतपाल महाजन, अशोक कुमार, हरजिंदर सिंह किशन सिंह आदि उपस्थित थे।