Vigilance Bureau ने सरकारी फंडों में 65 लाख रुपए के घपले को लेकर सिद्धवां बेट के BDPO और ब्लाक समिति के चेयरमैन को किया गिरफ़्तार

Spread the News

लुधियाना : भ्रष्टाचार के ख़ात्मे के लिए चलाई जा रही मुहिम के दौरान पंजाब विजीलैंस ब्यूरो पंजाब ने सिद्धवां बेट ब्लाक, लुधियाना के बी.डी.पी.ओ सतविंदर सिंह कंग और सिद्धवां बेट ब्लाक समिति के चेयरमैन लखविंदर सिंह को 26 गाँवों में लगाई जाने वाली स्ट्रीट लाईटों को मंज़ूरशुदा रेट से दोगुनी कीमत पर खरीद कर सरकारी फंडों में 65 लाख रुपए का घपला करने के दोष के तहत गिरफ़्तार किया है।

इस संबंधी जानकारी देते विजीलैंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि विजीलैंस जांच नंबर 03 तारीख़ 12 जुलाई 2022 की तफ्तीश दौरान पाया गया कि सतविंदर सिंह बी. डी. पी. ओ. (अब मुअत्तल) को सिद्धवां बेट ब्लाक में अपनी तैनाती दौरान 26 गाँवों में स्ट्रीट लाईटें लगाने के लिए सरकारी ग्रांट प्राप्त हुई थी। फंडों में हेराफेरी करने के लिए उक्त बीडीपीओ ने मैसर्ज अमर इलैक्ट्रिकल ऐंटरप्राईज़िज़ के मालिक गौरव शर्मा के साथ मिलीभुगत के ज़रिये 3,325 रुपए के प्रवानित रेट के मुकाबले जानबूझ कर 7,288 रुपए प्रति लाईट के हिसाब के साथ यह लाईटें खरीदीं थीं। इस तरह उसने 65 लाख रुपए की सरकारी ग्रांट का घपला करके सरकारी खजाने को वित्तीय नुक्सान पहुँचाया।

अधिक जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि इस मामले में सतविंदर सिंह कांग बीडीपीओ और मेसर्स अमर इलेक्ट्रिकल इंटरप्राइजेज के मालिक गौरव शर्मा के खिलाफ आईपीसी की धारा 409, 120-बी और धारा 13 (1) (ए), 13 (2) भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत वीबी, पुलिस स्टेशन, आर्थिक अपराध शाखा, लुधियाना दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि बाद में जांच के दौरान लखविंदर सिंह अध्यक्ष प्रखंड समिति सिधवान बेट को भी इस मामले में नामजद किया गया है। इस मामले में बीडीपीओ और चेयरमैन को गिरफ्तार कर लिया गया है और कल उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा।