HCL ने vernacular edtech platform GUVI में बहुमत हिस्सेदारी हासिल की

Spread the News

आईटी प्रमुख एचसीएल ने गुरुवार को कहा कि उसने वर्नाक्युलर एडटेक प्लेटफॉर्म जीयूवीआई (एलन मस्क की ‘ओपनएआई’ पहल के साथ साझेदारी करने वाली भारत की कुछ कंपनियों में से एक) में एक अज्ञात राशि के लिए बहुमत हिस्सेदारी हासिल कर ली है। आईआईटी मद्रास और सीआईआईई (आईआईएम अहमदाबाद) इनक्यूबेटेड स्टार्टअप तकनीकी पाठ्यक्रम जैसे वेब डेवलपमेंट, एआई मॉड्यूल, एसक्यूएल और उद्योग के विशेषज्ञों द्वारा स्थानीय भाषाओं में बनाए गए विभिन्न अन्य पाठ्यक्रम प्रदान करता है।

मल्होत्रा ने कहा, ‘‘हमें यह सुनिश्चित करने के लिए जीयूवीआई के साथ जुड़कर खुशी हो रही है कि प्रौद्योगिकी के इच्छुक लोगों की मूल भाषा में समग्र पाठ्यक्रमों के माध्यम से सीखने और अपस्किलिंग तक आसानी से पहुंच हो।’’ जीयूवीआई शिक्षार्थियों, विश्वविद्यालयों और नियोक्ताओं के लिए विशेष पाठ्यक्रम प्रदान करता है। जीयूवीआई हिंदी, तेलुगु, मलयालम, तमिल, अंग्रेजी और अरबी में कंप्यूटर प्रोग्रामिंग पाठ्यक्रम प्रदान करता है।

जीयूवीआई के सीईओ और सह-संस्थापक, प्रकाश ने कहा, ‘‘हमें विश्वास है कि यह एसोसिएशन एडटेक स्पेस को उनकी मातृभाषा में सेवा देने वाले दर्शकों के लिए एक गेम-चेंजर साबित होगा। साथ ही, एचसीएल के वैश्विक नेटवर्क का लाभ उठाते हुए, हम पेशेवरों के एक बड़े पूल को सशक्त बनाने की उम्मीद कर रहे हैं।’’ आज तक, जीयूवीआई ने 1.7 मिलियन से अधिक छात्रों और पेशेवरों को नवीनतम प्रौद्योगिकी कौशल में उन्नत किया है और उन्हें सभी क्षेत्रों में प्लेसमेंट हासिल करने में मदद की है।