2021-22 में घरेलू पर्यटकों के लिए सबसे लोकप्रिय गंतव्य रहा ताज महल, दूसरे और तीसरे क्रम पर लाल किला और कुतुब मीनार

Spread the News

नई दिल्ली: यूनेस्को के विश्व धरोहर स्थलों में शामिल ताज महल 2021-22 में घरेलू पर्यटकों के लिए केंद्र द्वारा संरक्षित उन सबसे अधिक लोकप्रिय 10 स्थानों में शामिल है जहां प्रवेश के लिए शुल्क लगता है। केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय की एक नई रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई। इस सूची में मुगल कालीन मकबरा ताजमहल पहले स्थान पर, वहीं यूनेस्को से मान्यता प्राप्त दिल्ली स्थित लाल किला और कुतुब मीनार दूसरे और तीसरे क्रम के सबसे अधिक लोकप्रिय स्थान चुने गए हैं।

‘इंडिया टूरिज्म स्टैटिस्टिक्स 2022’ शीर्षक वाली 280 पन्नों से अधिक की रिपोर्ट को उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर यहां जारी किया। रिपोर्ट में कहा गया है कि कोविड-19 से जुड़े प्रतिबंधों के कारण भारत में 2021 में विदेशी पर्यटकों की आवक कम हो गई। 2020 में देश में 27.4 लाख विदेशी सैलानी आए थे जिनकी संख्या पिछले साल कम होकर 15.2 लाख रह गई। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ए.एस.आई.) के तहत आने वाले अनेक स्थानों पर सैलानियों की आवक के बारे में आंकड़े साझा करते हुए रिपोर्ट में बताया गया है कि 2021-22 में केंद्र द्वारा संरक्षित शुल्क वाले स्मारकों में घरेलू पर्यटकों के बीच ताज महल सबसे लोकप्रिय रहा। वहीं तमिलनाडु में ममल्लापुरम के स्मारकों को इसी अवधि में केंद्र द्वारा संरक्षित तथा शुल्क से प्रवेश वाले स्मारकों में विदेशी पर्यटकों के बीच सबसे लोकप्रिय बताया गया और यहां 1.4 लाख विदेशी पहुंचे। इस सूची में ताज महल 38 हजार लोगों के आगमन के साथ दूसरे नंबर पर रहा।

2021-22 : 32.9 लाख घरेलू पर्यटकों ने किया ताज महल का दीदार

रिपोर्ट में दिए गए आंकड़ों के अनुसार 2021-22 में ताज महल का दीदार 32.9 लाख घरेलू पर्यटकों ने किया। लाल किला देखने 13.2 लाख और कुतुब मीनार के लिए 11.5 लाख सैलानी पहुंचे। भारत में ऐसे 3,693 धरोहर स्थल हैं जिनका संरक्षण ए.एस.आई. के हाथ में हैं। इनमें से कई यूनेस्को के विश्व धरोहर स्थल हैं।