NHRC ने नीलगाय की टक्कर से मरने वाले मोटरसाइकिल चालक को 7 लाख मुआवजा देने के दिए आदेश

Spread the News

हरियाणा मानव अधिकार आयोग ने नीलगाय की टक्कर से मरने वाले मोटरसाइकिल चालक को 7 लाख बतौर मुआवजा देने का आदेश दिया है। बता दें शिकातरकर्ता मृतक की पत्नी निशा ने हरियाणा मानव अधिकार आयोग को गुहार लगाई थी उसका पति 14 नवंबर 2020 को रायपुर रानी से नारायणगढ़ मोटरसाइकिल पर जा रहा था जब वह गांव फिरोजपुर के नजदीक पहुंचा तो उसके सामने अचानक एक नीलगाय आ गई जिसने सीधे आके उसके पति मुकेश को टक्कर मारी जिसकी वजह से मुकेश की जान चली गई।

शिकायत का संज्ञान लेते हुए मानव अधिकार आयोग के सदस्य श्री दीप भाटिया ने उपायुक्त पंचकुला वा सरकार के वन विभाग को नोटिस जारी करके इस बारे में जवाब मांगा था तथा संबंधित विभाग के जवाब आने के बाद मामला की सुनवाई आयोग की खंडपीठ जस्टिस के सी पूरी एवम् सदस्य श्री दीप भाटिया ने की। वन विभाग ने इस मामले में यह दलील दी की यदि व्यक्ति पैदल हो और किसी वन्यजीव द्वारा उस पर हमला किया जाए या उसे क्षति पहुंचे तो विभाग उसकी क्षतिपूर्ति करता है परंतु वाहन पर जाने वाले व्यक्ति की कोई क्षतिपूर्ति विभाग द्वारा नहीं की जाती है।

इस विषय में आयोग ने पाया की मृतक मुकेश का कहीं भी लापरवाही से गाड़ी चलाने का या किसी प्रकार की गलती करने का उल्लेख रिकॉर्ड में नहीं था अतः मुकेश की मृत्यु पूर्णता वन्य प्राणी की टक्कर की वजह से हुई जिसकी भरपाई की जानी आवश्यक हे। आयोग की खंडपीठ जस्टिस के सी पुरी एवम् सदस्य दीप भाटिया ने अपने निर्णय में सरकार को मृतक परिवार को ₹700000 बतौर मुआवजा देने का आदेश दिया है।