भारी वर्षा से जलभराव हुए क्षेत्रों का निकाय मंत्री डॉ. कमल गुप्ता ने किया भ्रमण, जल निकासी प्रबंधों का लिया जायजा

Spread the News

हरियाणा : हरियाणा के स्थानीय शहरी निकाय मंत्री डॉ. कमल गुप्ता ने शनिवार को फतेहाबाद के कस्बा भूना में भारी वर्षा से हुए जलभराव के क्षेत्रों का भ्रमण किया। जिस दौरान उन्होंने जल निकासी के प्रबंधों का जायजा लिया।

इसके उपरांत डा. गुप्ता ने अधिकारियों के साथ शहीद भगत सिंह चौक, टी प्वाइंट, उकलाना-चंडीगढ़ रोड, हिसार रोड, शिवधाम, गौशाला, पुराना बाजार, पुराना व नया बस अड्डा आदि प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण किया और प्रभावित हुए नागरिकों की समस्याओं को सुना। इसके अलावा भूना शहर व आसपास के क्षेत्र में बीती 22 से 25 सितंबर तक 493 एम एम वर्षा हुई,जिससे हुए जलभराव के कारण नागरिकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। डा. गुप्ता ने नागरिकों की समस्याओं को सुनते हुए कहा कि कचरा के उठान,जोहड़ों की सफाई, सीवरेज पाइप डालने, भूना शहर में सफाई व्यवस्था, पानी की निकासी संबंधी तथा नागरिकों को राहत देने बारे लापरवाही व कोताही की गई है। उसकी प्रशासन जांच करें और रिपोर्ट भिजवाई जाए। लापरवाही व कोताही बरतने वाले संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ नियमानुसार सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि भारी वर्षा के कारण जो नुकसान हुआ है, उसका अधिकारी सर्वे करें ताकि हुए नुकसान का आंकलन कर उसकी भरपाई हेतू मुआवजा वितरण संबंधी आवश्यक कार्यवाही की जा सके। उन्होंने कहा कि भूना कस्बा व खेतों में जलभराव से किसानों की फसलों के हुए नुकसान के लिए स्पेशल गिरदावरी करवाई जाएगी। नुकसान की भरपाई के लिए सर्वे होगा और नियमानुसार उन्हें मुआवजा दिया जाएगा।

उपायुक्त जगदीश शर्मा ने बताया कि नगरपालिका भूना शहर में बिमारियों से बचाव हेतू चार मशीन लगाकर निरंतर फॉगिंग कराई जा रही है। आम जनता को प्रभावित क्षेत्रों से सुरक्षित निकालने के लिए 20 ट्रैक्टर व छह नावों का प्रबंध किया गया है, जिनमें से दो नाव मोटर संचालित है। इसके साथ ही लोगों को पीने के पानी के लिए नगरपालिका भूना द्वारा 16 टैंकरों व सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं द्वारा 12 टैंकरों का प्रबधों किया गया है वहीं दूसरी ओर लगभग 1000 से 1200 पानी के कैंपरों का भी प्रबंध किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पानी निकासी के लिए जन स्वास्थ्य व सिंचाई विभाग द्वारा 31 पम्प सेटों की व्यवस्था की गई। शर्मा ने बताया कि प्रभावित जनता के स्वास्थ्य की जांच हेतू जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा दस टीमों का गठन किया गया है जो घर-घर जाकर प्रभावित लोगों की जांच कर रही हैं। जिसमें से 800 घरों का निरीक्षण किया गया है और जिसमें से 120 प्रभावितों को ईलाज किया गया है। भारी वर्षा के कारण जिन परिवारों को नुकसान हुआ है, उनके लिए एक सहायता केंद्र राजकीय महाविद्यालय, भूना में स्थापित किया गया है। जहां पर वे अपने नुकसान से संबंधित आवेदन पत्र दे सकते हैं।

अब तक करीब 1500 से अधिक आवेदन पत्र प्राप्त हो चुके हैं। इस दौरान सिरसा की सांसद सुनीता दुग्गल एडीसी अजय चोपड़ा,वरिष्ठ भाजपा नेता जगदीश चोपड़ा, भाजपा जिलाध्यक्ष बलदेव ग्रोहा,चंद्र प्रकाश बोस्ती, सिंचाई विभाग के अधीक्षण अभियंता ओपी बिश्रोई, जन स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षण अभियंता जसवंत सिंह भी मौजूद थे।