अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर चीफ इलेक्शन कमिश्नर राजीव कुमार ने 80 वर्ष से अधिक के मतदाताओं को किया सम्मानित

Spread the News

शिमला : हिमाचल प्रदेश में मुख्य चुनाव अधिकारी ने अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के अवसर पर समारोह का आयोजन किया, जिसमे मुख्य चुनाव आयुक्त राज्य भर में 80 वर्ष से अधिक आयु के सभी मतदाताओं को सम्मानित किया गया।

बता दें कि हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले मुख्य चुनाव अधिकारी मनीष गर्ग ने शनिवार को अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस 103 वर्षीय सेवानिवृत्त सरकारी शिक्षक प्यार सिंह को चंबा स्थित उनके आवास पर जाकर सम्मानित किया। उन्हें जिला आइकन घोषित किया गया है। इसके साथ ही अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के अवसर पर आयोजित समारोह में मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार द्वारा हस्ताक्षरित एक प्रशस्ति पत्र के साथ राज्य भर में 80 वर्ष से अधिक आयु के सभी मतदाताओं को सम्मानित किया गया। सिंह ने पहली बार 1952 में मतदान किया था और उसके बाद से उन्होंने कभी भी वोट डालने का मौका नहीं छोड़ा। वह आम तौर पर अपना वोट डालने के लिए हटनाला मोहल्ला में निकटतम मतदान केंद्र तक जाते हैं। वह चंबा के सरकारी लड़कों के स्कूल से सेवानिवृत्त स्कूल शिक्षक हैं।

गर्ग ने कहा, ‘‘यह बुजुर्ग मतदाताओं को सम्मानित करने और धन्यवाद देने के लिए भारत के चुनाव आयोग की एक अनूठी पहल है, जिसे वृद्ध व्यक्तियों के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में चिह्न्ति किया गया है और यह दिन लाखों युवा मतदाताओं को प्रेरित करता है।’ उन्होंने कहा कि चुनावी प्रक्रिया में बुजुर्ग मतदाताओं का योगदान महत्वपूर्ण है। इस पहाड़ी राज्य में नवंबर में 68 सदस्यीय विधानसभा के लिए मतदान होने की संभावना है, यहां 80 वर्ष से अधिक आयु के 122,093 मतदाता हैं। इनमें से कुल 1,190 100 साल से ऊपर के हैं। कांगड़ा जिले के सुल्लाह विधानसभा क्षेत्र में 2,936 बुजुर्ग हैं, जबकि कांगड़ा की फतेहपुर सीट पर 72 शताब्दी मतदाता हैं, जो राज्य में सबसे अधिक है।