सितंबर में बिजली खपत 13.31 प्रतिशत बढक़र 127.39 अरब यूनिट रही

नयी दिल्ली: भारत की बिजली खपत सालाना आधार पर 13.31 प्रतिशत बढक़र सितंबर में 127.39 अरब यूनिट हो गई जबकि चालू वित्त वर्ष के पहले छह महीनों में इसमें 11.65 प्रतिशत की तेजी देखी गई है। बिजली मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। इसके मुताबिक सितंबर 2021 में 112.43 अरब यूनिट की खपत हुई थी जो इस साल सितंबर में बढक़र 127.39 अरब यूनिट हो गई। सितंबर 2020 में यह आंकड़ा 112.24 अरब यूनिट रहा था।वहीं वित्त वर्ष 2022-23 के पहले छह महीनों में बिजली की खपत 786.5 अरब यूनिट रही है जो एक साल पहले की समान अवधि के 740.40 अरब यूनिट की तुलना में 11.65 प्रतिशत अधिक है। अप्रैल-सितंबर 2020 के दौरान देश में 625.33 अरब यूनिट बिजली की खपत हुई थी।

बिजली मंत्रालय के आंकड़ों से पता चलता है कि सितंबर के महीने में एक दिन में सर्वाधिक बिजली मांग बढक़र 199.47 गीगावाट हो गई। एक साल पहले इसी महीने में एक दिन में 180.73 गीगावाट की सर्वाधिक मांग दर्ज की गई थी। बिजली क्षेत्र के जानकारों का कहना है कि त्योहारी मौसम शुरू होने के पहले सितंबर महीने में बिजली खपत में दहाई अंकों की वृद्धि से औद्योगिक एवं वाणिज्यिक क्षेत्रों में बिजली की बढ़ी हुई मांग का संकेत मिलता है। यह आर्थिक पुनरुद्धार की तरफ इशारा करता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, त्योहारी मौसम में बिजली की मांग और खपत दोनों में ही वृद्धि होने की संभावना है।