प्रेमी जोड़े को सुरक्षा देने से पुलिस कैसे कर सकती है इंकार, HC ने पुलिस कर्मियों की मांगी जानकारी

Spread the News

चंडीगढ़: एक प्रेमी जोड़े को सुरक्षा देने से पुलिस द्वारा इंकार किए जाने पर हाईकोर्ट ने कड़ा रुख अपनाते हुए उन पुलिस अधिकारियों की जानकारी मांग ली हैं, जिन्होंने सुरक्षा की मांग को लेकर प्रेमी जोड़े द्वारा दी गई रिप्रजैंटेशन पर कार्रवाई से इंकार कर दिया था। जस्टिस अवनीश झिंगन ने यह आदेश एक प्रेमी जोड़े द्वारा अपनी सुरक्षा की मांग को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए दिए हैं। साथ ही पंजाब सरकार को पूछा कि जब ऐसे ही एक मामले में पंजाब सरकार ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि जब भी कोई प्रेमी जोड़ा सुरक्षा की मांग करेगा तो उस पर तत्काल करवाई की जाएगी, तो इस मामले में ऐसा क्यों नहीं हुआ है। लिहाजा हाईकोर्ट ने इस पर पंजाब सरकार से मामले की अगली सुनवाई पर स्टेटस रिपोर्ट दायर किए जाने के भी आदेश दे दिए हैं।

बता दें कि एक प्रेमी जोड़े ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर बताया था कि उन्होंने अपने परिवारों की मर्जी के खिलाफ जाकर प्रेम विवाह कर लिया है, अब उन्हें खतरा है ऐसे में उन्हें सुरक्षा दी जाए। इस याचिका पर सुनवाई के दौरान प्रेमी जोड़े के वकील ने हाईकोर्ट को बताया कि उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दायर करने से पहले दसूहा पुलिस थाने में अपनी सुरक्षा की मांग को लेकर अर्जी दी थी, लेकिन उनकी इस अर्जी पर पुलिस ने यह कहते हुए कार्रवाई करने से इंकार कर दिया कि वह इसके लिए पहले अदालत के आदेश लेकर आएं। इसी पर हाईकोर्ट ने कड़ा रुख अपनाते हुए कहा कि जब सरकार हाईकोर्ट में एक मामले में आश्वासन दे चुकी है कि सुरक्षा मांगने वालों की अर्जी पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी तो कैसे इस मामले में इंकार कर दिया गया।