VC Dr. Jaspal Singh Sandhu आज करेंगे GNDU में स्थापित नानक सिंह सेंटर का उद्घाटन

Spread the News

अमृतसर : गुरु नानक देव विश्वविद्यालय परिसर स्थित भाई गुरदास पुस्तकालय में स्थापित नानक सिंह सेंटर का उद्घाटन उप- कुलपति डॉ. जसपाल सिंह संधू आज 6 अक्टूबर को करेंगे। यह केंद्र नानक सिंह लिटरेरी फाउंडेशन द्वारा स्थापित किया गया है। पंजाबी साहित्य के भीष्मपताहमा कहानीकार नानक सिंह लिटरेरी फाउंडेशन के अध्यक्ष डॉ. कुलबीर सिंह सूरी ने नानक सिंह केंद्र के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इस केंद्र में नानक सिंह द्वारा लिखी दुर्लभ पुस्तकों के प्रथम संस्करण, पांडुलिपियां, संपूर्ण साहित्य, उनके द्वारा प्राप्त विभिन्न सम्मान, उनकी कलम और टैबल को भी रखा जाएगा। नानक सिंह के जीवन से जुड़ी सभी चीजें, चित्नकार शोभा सिंह द्वारा पुस्तक कवर के रूप में मूल चित्न, उनके चित्न, जीवन दर्शन और उनका जीवन बड़ी दीवार पर लिखी पंक्तियां सभी को सुरिक्षत रखा गया है।

उन्होंने कहा कि ये साहित्यक खजाना छात्नों और शोधकर्ताओं के लिए बहुत फायदेमंद साबित होंगे। पंजाबी स्टडीज स्कूल के मुखिया डॉ. मनिजंदर सिंह ने इस संबंध में जानकारी साझा करते हुए कहा कि पंजाबी के शिरोमणि उपन्यासकार नानक सिंह की स्मृति में समिर्पत यह केंद्र गुरु नानक देव विश्वविद्यालय के भाई गुरदास पुस्तकालय की तीसरी मंजिल पर स्थापित किया गया है।इस केंद्र का उद्घाटन समारोह 6 अक्टूबर 2022 को सुबह 11 बजे सीनेट हॉल, गुरु नानक देव विश्वविद्यालय, अमृतसर में होगा।

उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता कुलपति डॉ. जसपाल सिंह संधू करेंगे। इस मौके पर नानक सिंह के पौत्न नवदीप सिंह सूरी (आईएफएस) नानक सिंह साहित्यिक फाउंडेशन के उद्देश्य के बारे में विचार प्रस्तुत करेंगे। नानक सिंह के पुत्न डॉ. कुलबीर सिंह सूरी नानक सिंह के जीवन और व्यक्तित्व से जुड़ी उनकी यादें साझा करेंगे। इसके बाद नानक सिंह लिटरेरी फाउंडेशन के वाइस चेयरमैन जितिंदर बराड़ (फाउंडर पंजाब नाटशाला), कंवलजीत सिंह सूरी और मशहूर सिंगर हरिंदर सोहल दर्शकों को संबोधित करेंगे। इस दौरान नानक सिंह के जीवन से जुड़ा एक वीडियो भी दिखाया जाएगा।

समारोह के अंत में प्रो. सरबजोत सिंह बहल (डीन अकादमिक मामले, गुरु नानक देव विश्वविद्यालय, अमृतसर) इस समारोह के समापन पर अपने विचार प्रस्तुत करेंगे। उन्होंने उद्घाटन समारोह में भाग लेने के लिए विद्वानों, लेखकों, शहर के गणमान्य व्यक्तियों, शोधकर्ताओं और छात्नों को सौहार्दपूर्वक आमंत्रित किया है।