Karwa Chauth: करवा चौथ की पूजा के समय थाली में अवश्य रखें ये कुछ चीजें

Spread the News

हर साल कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को करवा चौथ का व्रत रखा जाता है। इस साल करवा चौथ का पर्व 13 अक्टूबर 2022 को मनाया जा रहा है। इस दिन महिलाएं अखंड सौभाग्य और अपने सुहाग की लम्बी आयु के लिए करवा चौथ का व्रत रखती हैं। करवा चौथ पर भगवान शिव और पार्वती जी की पूजा का विशेष महत्व माना जाता है। महिलाएं शिव-पार्वती की पूजा कर व्रत रखती हैं और अपने खुशहाल दांपत्य जीवन की कामना करती हैं। करवा चौथ की पूजा के समय करवा चौथ की थाली का विशेष महत्व होता है। थाली में कुछ विशेष चीजें राखी जाती है जो बहुत हे आवश्यक होती है। आइए जानते है क्या है वो चीजें:

करवा चौथ की थाली में इन चीजों को रखें
आटे का दीपक
करवा चौथ पर पूजन थाली में आटे का दीपक जरूर शामिल करना चाहिए. दीपक में सरसों के तेल में रुई की बत्ती डालें. इससे गृह कलह दूर होता है और पति-पत्नी के बीच प्यार बढ़ता है.

मिट्टी का करवा
करवा चौथ पर मिट्टी का करवा शुभ माना जाता है. वैसे आजकल बाजार में कई प्रकार के करवे आ गए हैं. किसी भी करवे पर चावल का लेप जरूर लगाना चाहिए. करवे को रक्षा सूत्र से बांधना चाहिए और चाहें तो इसे सजा भी सकते हैं.

कांस की तीलियां
करवा चौथ पर कांस की तीलियां भी उपयोग में ली जाती है. कांस की तीलियों का महत्व पौराणिक कथाओं में बताया गया है. ऐसे में इनका उपयोग करना शुभ माना जाता है.

कुमकुम
करवा चौथ की थाली में कुमकुम रखना बेहद जरूरी होता है. मान्यता है कि पूजा के बाद इसी कुमकुम से मांग भरने से सुहाग की लंबी आयु की कामना पूर्ण होती हैं.

छलनी और फूल
करवा चौथ की थाली में फूल शामिल करने चाहिए. फूल माला प्यार और सम्मान का प्रतीक है. इसलिए पूजा में इसे शामिल करना शुभ माना जाता है. इसी तरह छलनी का उपयोग भी करना चाहिए.

मिठाई, चावल
करवा चौथ पर चंद्र देव की पूजा में मिठाई और चावल अर्पित करने चाहिए. मिठाई सफेद चीज जैसे दूध से बनी हो तो इसका फल अधिक प्राप्त होता है. पूजा की थाली में रोली और चावल भी जरूर रखें.

तांबे का लोटा और गिलास
चंद्रमा को अर्घ्य देने के लिए करवा चौथ की थाली में पानी से भरा तांबे का लोटा जरूर शामिल करना चाहिए. साथ ही एक पानी का गिलास भी रखना चाहिए. मान्यता है कि इसी पानी के गिलास से व्रत खोलना शुभ होता है.