कृषि मंत्री दलाल ने पेरिस की रूंगिस होलसेल मार्केट का किया दौरा

चंडीगढ़: किसानों के लिए खुदरा और थोक मार्केट में आधुनिक स्तर का बुनियादी ढांचा प्रणाली, परिचालन, तौर-तरीके और सहयोग तंत्र को समझने के लिए कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जय प्रकाश दलाल, एसीएस डॉ सुमिता मिश्रा और प्रतिनिधिमंडल के अन्य सदस्यों ने पेरिस की इंटरनेशनल रूंगिस हॉलसेल मार्केट का दौरा किया। दलाल आजकल प्रतिनिधि मंडल के साथ फ्रांस के दौरे पर हैं । प्रतिनिधि मंडल ने सेमारिस इंटरनैशनल के अध्यक्ष एवं सीईओ स्टीफन लियानी, रूंगिस इंटरनैशनल मार्केट के निदेशक एवं प्रभारी एम्ब्रोइज़ के साथ हरियाणा के गन्नौर में अंतर्राष्ट्रीय बाजार विकसित करने के संबंधों पर बैठक की। इन कम्पनियों का सार्वजनिक और निजी क्षेत्र में बड़ा स्वामित्व है और 40 से अधिक देशों के थोक एवम खुदरा बाजारों के विकास में भरपूर सहयोग प्रदान करती हैं ।

कृषि मंत्री ने इंटरनेशनल मार्केट के पदाधिकारियों से हरियाणा में किसान सहयोग प्रणाली विकसित करने और बाजार के सफल संचालन के बारे में अपनी इच्छा व्यक्त की। रूंगिस इंटरनैशनल के अध्यक्ष ने हरियाणा की गनौर बागवानी मार्केट को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का थोक एवं खुदरा बाजार विकिसत करने के लिए अपने अनुभव सांझा किए। कृषि मंत्री ने कहा कि फल, सब्जी, डेयरी उत्पाद आदि विभिन्न खाद्य वस्तुओं के वितरण के लिए गन्नौर मार्केट को ग्रीन ट्रांजिट हब के रूप में विकसित करने और इसे थोक बाजार से जोड़कर व्यापारियों के खुदरा संचालन पर शुरु आत करने पर बल दिया। उन्होंने कर्मचारियों को प्रोत्साहन प्रदान करने, उनके प्रबंधन के लिए नियम तथा उनके विकास पर ध्यान केंद्रित करने का सुझाव दिया। वर्ल्ड यूनियन ऑफ होलसेल मार्केट्स के अध्यक्ष लियानी ने कृषि मंत्री से अबूधाबी खाद्य वितरण हब का दौरा करने और अक्तूबर के अंतिम सप्ताह में आयोजित खाद्य सम्मेलन में भाग लेने का अनुरोध किया।

दलाल ने वर्ल्ड यूनियन ऑफ होलसेल मार्केट्स के अध्यक्ष को हरियाणा की गन्नौर मार्केट का दौरा करने के लिए आमंत्रित किया और आईआईएचएम, गनौर मार्केट की सफलता और भविष्य में सहयोग के तौर-तरीकों पर विस्तार से चर्चा की। कृषि मंत्री ने कहा कि रूंगिस इंटरनैशनल मार्केट 700 एकड़ से अधिक के क्षेत्र में फैला हुआ है जिसे वर्ष 1969 में स्थापित किया गया था। इस बाजार में मछली, मांस और डेयरी उत्पादों सहित 16 लाख मीट्रिक टन फल एवं सब्जियों का सालाना व्यापार होता है। हरियाणा राज्य भी रूंगिस मार्केट की तर्ज पर 540 एकड़ क्षेत्र में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के निकट गन्नौर में भारतीय अंतर्राष्ट्रीय बागवानी बाजार (आईआईएचएम) विकसित कर रहा है।

उन्होंने बताया कि आईआईएचएम गन्नौर भारतीय परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए कुछ आवश्यकताओं एवं सुविधाओं पर आधारित रूंगिस बाजार की तर्ज पर होगा। यह बाजार ताजा फल, सब्जियां, मछली एवं डेयरी उत्पादकों के लिए होगा तथा दिल्ली सहित एनसीआर में रहने वाली 55 मिलियन आबादी की आवश्यकताओं को पूरा करेगा। उन्होंने कहा कि गन्नौर मार्केट को स्थापित करने के लिए हरियाणा सरकार तेजी से आगे बढ़ रही है और 2024 के अंत तक इसे संचालित करने का लक्ष्य रखा गया है। भारतीय प्रतिनिधिमंडल ने फ्रांस में भारत के राजदूत जावेद अशरफ से भी मुलाकात की।