लखनऊ में डेढ़ सौ साल पुराने आनंदी देवी मंदिर से देवी का मुकुट, आभूषण, नकदी चोरी

लखनऊ: लखनऊ के चौक इलाके में 150 साल पुराने आनंदी देवी मंदिर से देवी का चांदी का मुकुट, चढ़ाया हुआ सोना और दान पेटी से नकदी चोरी हो गई है। मंदिर चौक पुलिस थाने से करीब 20 मीटर की दूरी पर स्थित है लेकिन पुलिस को घटना का पता तब चला जब मंदिर के पुजारियों ने इसकी सूचना उन्हें दी। इस घटना का स्थानीय लोगों ने विरोध किया, जिन्होंने कहा कि पुलिस की नाक के नीचे की गई चोरी ने न केवल भारी गश्त के दावों को उजागर किया, बल्कि देवता को भी अपवित्र किया। पूर्व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और पूर्व मंत्री आशुतोष टंडन, जो स्थानीय विधायक भी हैं, ने मंदिर का दौरा किया और पुलिस से जांच के बारे में पूछताछ की।

मंदिर के पुजारी अतुल अवस्थी की शिकायत पर दर्ज प्राथमिकी में कहा गया है कि मंदिर में आने पर अंदर के दरवाजे का ताला टूटा हुआ था और लाखों के आभूषण और नकदी गायब थी। पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला और एक व्यक्ति को बाइक पर बैग लेकर इलाके से निकलते देखा। पुलिस युवक को संदिग्ध मान रही है। पुलिस उपायुक्त, पश्चिम क्षेत्र, शिवसिम्पी चन्नप्पा ने कहा कि चोरी के आरोप में अज्ञात बदमाश के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।

उन्होंने कहा, ‘‘चूंकि शटर नहीं तोड़ा गया था, ऐसा प्रतीत होता है कि बदमाश के पास इसे खोलने और मंदिर के अंदर जाने के लिए मास्टर चाबी थी। हालांकि, वह आंतरिक गेट को खोलने में विफल रहा और कीमती सामान के साथ भागने से पहले ताला तोड़ दिया।’’ बदमाशों के जल्द नहीं पकड़े जाने पर क्षेत्र के स्थानीय लोगों व ज्वैलर्स ने पूरा चौक बाजार बंद करने की धमकी दी है। बाद में रात में, मेयर संयुक्ता भाटिया ने आनंदी देवी मंदिर का दौरा किया और स्थानीय लोगों से मुलाकात की जो परिसर के बाहर विरोध कर रहे थे।