विदेशी जेलों की तर्ज पर पंजाब में भी बनेगी हाई-सिक्योरिटी जेल, लगाए जाएंगे स्ट्रांग जैमर

Spread the News

चंडीगढ़: पंजाब सरकार गैंगस्टरों पर आतंकियों पर नकेल कसने के लिए एक नई शुरुआत करने जा रही है। जेलों में चल रहे नेटवर्क रोकने के लिए सरकार पंजाब में नई हाई-सिक्योरिटी जेल बनने की तैयारी कर रही है। इस संबंध में पंजाब पुलिस के आला अधिकारियों व एनआईए के अफसरों की एक ज्वाइंट मीटिंग भी हो चुकी है। देश की नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने पंजाब में ऐसी जेल की आवश्यकता जताई है। गृह मंत्रालय के निर्देश पर हुई मीटिंग के बाद नई जेल के लिए जमीन तलाशने का काम शुरू कर दिया गया है।

जानकारी के अनुसार यह हाई-सिक्योरिटी जेल करीब 100 करोड़ रुपये की लागत से 200 एकड़ से अधिक क्षेत्र में बनाई जाएगी। यह जेल विभाग के दायरे में होने के बावजूद इसकी देखरेख राज्य की इंटेलिजेंस व एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स करेगी। वहीं इस जेल को सुरक्षा के मद्देनजर शहर की आबादी से दूर बनाया जाएगा।

आप को बता दें कि देश में ऐसी हाई-सिक्योरिटी वाली जेल केवल केरल में है। जिसे देखने पंजाब के आला अधिकारियों की टीम जाएगी। वहीं विदेशों की जेलों पर भी स्टडी की जा रही है। जेल में इतने स्ट्रांग जैमर लगाए जाएंगे कि न केवल बैरकों के अंदर बल्कि जेल परिसर के आसपास भी कोई मोबाइल काम नहीं करेगा। जेल में तैनात होने वाले स्टाफ को भी जेल परिसर में मोबाइल ले जाने पर पूरी तरह से रोक होगी।

बता दें कि स्टाफ के लिए लैंडलाइन की व्यवस्था की जाएगी। कोई आपत्तिजनक वस्तु छुपा कर जेल में न ले कर जाए इसके लिए बॉडी स्कैनर लगाए जाएंगे। स्टाफ और अन्य के आने और जाने के लिए बॉयोमीट्रिक फिंगरप्रिंट लॉक सिस्टम होगा। जेल में ऐसी सेल बनाई जाएगी जिसमें कैदी एक-दूसरे को देख तक नहीं सकेंगे। कैदियों और विजिटर के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंस से बात होगी। सभी सेल में सीसीटीवी कैमरे होंगे। अस्पताल की सुविधा भी जेल में ही होगी। एक डॉग स्कवैड टीम भी तैनात की जाएगी।