तिब्बत के दस साल: लोगों के जीवन स्तर में सुधार

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 18वीं राष्ट्रीय कांग्रेस के बाद से तिब्बत के आर्थिक और सामाजिक विकास की उपलब्धियों पर न्यूज ब्रीफिंग 11 अक्तूबर को ल्हासा में आयोजित हुई। इस मौके पर जारी वक्तव्य के अनुसार पिछले दस वर्षों में तिब्बत की अर्थव्यवस्था स्वस्थ और तेजी से विकसित हुई है, और व्यापक ताकत में काफी सुधार हुआ है। अतीत की तुलना में तिब्बती लोगों के जीवन स्तर और उपभोग क्षमता में काफी सुधार हुआ है।

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के सांख्यिकी ब्यूरो के निदेशक सोलंग ताशी ने कहा कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 18वीं राष्ट्रीय कांग्रेस के बाद से तिब्बत के आर्थिक विकास में नई प्रगति हासिल हुई। 2012 से 2021 तक, तिब्बत की जीडीपी 9.5 प्रतिशत की औसत वार्षिक दर के साथ बढ़ी, जो राष्ट्रीय औसत स्तर से 2.9 प्रतिशत अंक अधिक है। 2021 में क्षेत्रीय जीडीपी 2 खरब युआन से अधिक हुई, जो 2012 के 2.26 गुना है।

2012 से 2021 तक, तिब्बत की प्रति व्यक्ति जीडीपी में वार्षिक औसत वृद्धि दर 7.6 प्रतिशत है, जो राष्ट्रीय औसत दर से 1.5 प्रतिशत अंक अधिक है। 2021 में, क्षेत्रीय प्रति व्यक्ति जीडीपी 56,831 युआन तक जा पहुंची, जो 2012 की तुलना में 92.8 प्रतिशत बढ़ी है। पिछले दस वर्षों में तिब्बत की वित्तीय गारंटी क्षमता में लगातार वृद्धि हुई है। 2021 में, पूरे तिब्बत का आम सार्वजनिक बजट राजस्व 21.562 अरब युआन रहा, जो 2012 की तुलना में 1.5 गुना अधिक है, यानी कि 10.7 प्रतिशत की औसत वार्षिक वृद्धि दर्ज की गई।

गौरतलब है कि 2012 के बाद से चीन में एकमात्र प्रांतीय स्तरीय अत्यंत गरीब क्षेत्र के रूप में तिब्बत में ग्रामीण गरीब लोगों की कुल संख्या में 8.5 लाख की कमी आई, जिनमें प्रति वर्ष औसत रूप से 1 लाख 6 हजार कम हुए हैं। 2019 में पूरे तिब्बत में सभी 6 लाख 28 हजार पंजीकृत गरीब लोगों को गरीबी से बाहर निकाला गया, और सभी 74 गरीब जिलों ने गरीबी से छुटकारा पाया।
(साभार—चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)