स्वास्थ्य मंत्रालय नहीं खरीदेगा कोविड के और टीके, 85 प्रतिशत बजट लौटाया

Spread the News

नई दिल्ली: सरकार का कोविड टीकाकरण कार्यक्रम अपने अंतिम चरण में है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने अभी और टीकों की खरीद नहीं करने का फैसला किया है। लिहाजा मंत्रालय ने टीकाकरण के उद्देश्य से आबंटित 2022-23 के बजट का लगभग 85 प्रतिशत यानी 4,237 करोड़ रुपए वित्त मंत्रालय को लौटा दिए हैं।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि केंद्र और राज्यों में सरकारों के पास 1.8 करोड़ से अधिक डोज अभी भी उपलब्ध हैं और यह स्टाक लगभग 6 महीने तक टीकाकरण अभियान जारी रखने के लिए पर्याप्त है क्योंकि कोविड के मामलों में गिरावट की वजह से लोग टीके कम् लगवा रहे हैं। सरकार का स्टाक खत्म होने पर भी बाजार में कोविड के टीके उपलब्ध होंगे। 6 महीने बाद टीकों की खरीद सरकारी माध्यम से करने या इस उद्देश्य के लिए नया बजट आबंटन प्राप्त करने का कोई भी निर्णय उस समय देश में व्याप्त कोविड की स्थिति पर निर्भर करेगा। मालूम हो कि देश में अभी तक टीकों की 219 करोड़ से ज्यादा डोज लगाई जा चुकी हैं।