Diwali: दिवाली के दिन करें कपूर के ये कुछ सरल उपाय, मां लक्ष्मी जी के आशीर्वाद के साथ मिलेगा धन लाभ

Spread the News

हर वर्ष दीपावली का पर्व शरद ऋतु में मनाया जाता है। यह एक प्राचीन सनातन त्यौहार है किसे लोग बहुत ही खुशी और उल्लास के साथ मनाते है। बता दे के दीपावली कार्तिक मास की अमावस्या को मनाई जाती है। यह भारत के सबसे बड़े और सर्वाधिक महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है। दीपावली दीपों का त्योहार है।कहा जाए तो यह पर्व ‘अन्धकार पर प्रकाश की विजय’ को दर्शाता है। दीपावली के दिन रात के समय भगवान गणेश जी और माता लक्ष्मी जी की पूजा अर्चना की जाती है। आज हम आपको दीपावली पर कपूर के कुछ सरल उपाय के बारे में बताने जा रहे है जो आपको माता लक्ष्मी का आशीर्वाद प्राप्त करने के साथ साथ जीवन में सुख-शांति भी बनाए रखेंगे। तो आइए जानते है कपूर के कुछ सरल उपाय:

धन समृद्धि के लिए
दिवाली की रात भगवान गणेश और माता लक्ष्मी की पूजा में कपूर का प्रयोग किया जाता है। माना जाता है के इस पूजा से माता लक्ष्मी को प्रसन्न होती है और उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है। कार्तिक मास की अमावस्य पर इस त्योहार के होने से इसे महानिशा की रात भी कहा जाता है, जो तंत्र-मंत्र के लिए बहुत महत्वपूर्ण मानी जाती है। ज्योतिष शास्त्र में दीपावली पर कपूर के कुछ उपाय के बारे में बताया गया है, जिनके करने से जीवन में सुख-शांति का वास होता है और माता लक्ष्मी का आशीर्वाद भी प्राप्त होता है।

इस उपाय से सौभाग्य में होती है वृद्धि
सौभाग्य में वृद्धि के लिए दिवाली पर कपूर के ऊपर साबूदाने के 24 दाने रखकर जला दें। ऐसा करने से ना सिर्फ सौभाग्य की प्राप्ति होती है बल्कि परिवार में सुख-शांति और सकारात्मकता का वास होता है। ऐसा बुजुर्गों ने बताया है।

इस उपाय से शनि कष्टों से मिलती है मुक्ति
शनि के कष्टों से मुक्ति के लिए कपूर की कालिख से सवालाख बार ओम शं शनैश्चराय नम: लिख कर बांसुरी में शक्कर भरकर उसके साथ भूमि प्रवाह कर दें। इस क्रिया को दिवाली की रात्रि से शुरू कर दें। ऐसा करने से शनिदोष से मुक्ति मिलती है और उनका प्रभाव भी कम होता है।

धन प्राप्ति के बनते हैं योग
दिवाली की संध्या में सूर्यास्त के समय अपने घर और कार्य क्षेत्र में कपूर का दीप जलाएं और उसे चारों तरफ घुमाएं। इसके बाद कपूरे से तुलसी पर आरती करके घर के मंदिर में स्थापित कर दें। ऐसा करने से धन प्राप्ति के योग बनेंगे।

शोक व विकार होते हैं नष्ट
दीपावली के दिन से लेकर हर रोज संध्या के समय घर के मंदिर की कपूर से भगवान जी आरती उतारें और पूरे घर में हर जगह कपूर को घुमाए। ऐसा करने से शोक और विकार नष्ट होते हैं।

नकारात्मक शक्तियां होंगी खत्म
दिवाली की संध्या में गंगा जल में कपूर मिश्रित कर घर के मुख्य द्वार पर छिड़कने से बुरी बला और नकारात्मक शक्तियां निष्प्रभावी होती हैं।