Gurugram से द्वारका तक मेट्रो रेल कनेक्टिविटी को मंजूरी, 1541 करोड़ होंगे खर्च

Spread the News

चंडीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में रेजांगला चौक गुरुग्राम से सेक्टर21 द्वारका के बीच बेहतर संपर्क प्रदान करने के लिए द्वारका मेट्रो रेल कनेक्टिविटी परियोजना की अंतिम विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) को मंजूरी दी गई। इसके अनुसार पालम विहार में रेजंगला चौक और द्वारका सेक्टर-21 स्टेशन को जोड़ने वाला स्पर या मेट्रो एक्सटेंशन 8.40 किलोमीटर लंबा होगा। इसमें से 04 किलोमीटर पालम विहार से गुरुग्राम में सेक्टर-111 और शेष 4.40 किलोमीटर सेक्टर-111 से सेक्टर-21 द्वारका तक होगा। इस पूरे रूट में 7 स्टेशन होंगे। बैठक में मंत्रिमंडल ने राज्य सरकार के हिस्से के साथ 1541 करोड़ रुपए की सकल परियोजना लागत को मंजूरी दी।

परियोजनाओं के क्रियान्वयन के लिए अनुबंध एवं अन्य संबंधित दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करने के लिए प्रशासनिक सचिव, नगर एवं ग्राम आयोजना विभाग को नोडल अधिकारी के रूप में मनोनीत करने की भी स्वीकृति प्रदान की गई। हरियाणा जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के ग्रुप-सी और डी के कर्मचारियों को मिलेंगे पदोन्नति के अवसर -सरकार ने लोक निर्माण विभाग के कनिष्ठ अभियंता ग्रुपसी सेवा नियम में किया संशोधन चंडीगढ़ : मंत्रिमंडल की बैठक में हरियाणा लोक निर्माण विभाग के कनिष्ठ अभियंता (ग्रुप सी) सेवा नियम में संशोधन करने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई। अब ये नियम हरियाणा लोक निर्माण विभाग कनिष्ठ अभियंता (ग्रुप सी) सेवा (संशोधन) नियम कहलाएंगे।

वर्तमान नियमों में फीडर कैडर पद में सेवारत सर्वेयर या कार्य निरीक्षक पात्र कर्मचारियों की अनउपलब्धता के कारण पदोन्नति के विरूद्ध कोटे से कनिष्ठ अभियंता (सिविल) और शिफ्ट अभियंता वाटर वर्कस सुपरिनटेंडेंट व फोरमैन से कनिष्ठ अभियंता (मकैनिकल) के पद भरना संभव नहीं था। अब जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के ग्रुप-सी और डी के सभी कर्मचारी विभागीय परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद क्रमश 05 व 07 वर्ष का अनुभव रखने वाले कर्मचारियों पदोन्नति के अवसर बढ़ेंगे इसलिए हरियाणा लोक निर्माण विभाग के कनिष्ठ अभियंता (ग्रुप सी) सेवा नियम में संशोधन किया गया है।