बंदी छोड़ दिवस पर Canadian Prime Minister ने सिखों को दी बधाई

Spread the News

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने बंदी छोड़ दिवस के अवसर पर सिख समुदाय के लोगों को बधाई दी है। सोमवार को जारी एक बयान में प्रधानमंत्री ने कहा कि कनाडा और दुनिया भर में बंदी छोड़ दिवस मनाने के लिए हम सिख समुदाय के शामिल हो रहे हैं। इस मौके पर सिख समुदाय के लोग गुरु हरगोबिंद साहिब जी की कहानी को याद करते हैं, जिन्हें 1619 में ग्वालियर किले में कैद किया गया था। उन्हें जब मुक्त होने का मौका दिया गया तो गुरु ने ऐसा करने से मना कर दिया, यह कहते हुए कि कैद किए गए 52 निर्दोष राजकुमारों को भी रिहा करना होगा।

आखिरकार वह उन्हें मुक्त करने में सफल रहे। ट्रूडो ने कहा कि आशा, मार्गदर्शन और स्वतंत्रता के प्रतीक के रूप में आज लोग अपने घरों और गुरुद्वारों में प्रार्थना, दावत और मोमबत्ती जलाने के लिए एकत्रित होंगे। इस मौके पर हम अपने आसपास के लोगों के साथ एकजुटता से खड़े हैं। प्रधानमंत्री टूडो ने कहा कि यह उत्सव एक मजबूत कनाडा के निर्माण में सिखों के योगदान को जानने का भी अवसर है। बंदी छोड़ दिवस (कैदी मुक्ति दिवस) पर 1619 में ग्वालियर किले से मुगल सम्राट जहांगीर द्वारा 52 राजकुमारों के साथ रिहा होने के बाद छठवें सिख गुरु श्री गुरु हरगोबिंद सिंह अमृतसर लौट आए थे।