प्रशासन के निर्देशों के बावजूद दिवाली पर जमकर चले पटाखे, खराब हुई चंडीगढ़ की आबोहवा

Spread the News

चंडीगढ़: पटाखों पर प्रतिबंध लगाए जाने के बावजूद लोगों ने दिवाली की रात जमकर आतिशबाजी की। वहीं चंडीगढ़ के ट्राइसिटी में भी लोगों ने 10 बजे के बाद भी जमकर आतिशबाजी की। इसका असर यह हुआ कि ट्राइसिटी की हवा भी प्रदूषित हो गई है। सिटी ब्यूटीफुल चंडीगढ़ में दीपावली की अगली सुबह मंगलवार को प्रदूषण का स्तर पहले से काफी बढ़ गया है। सुबह 9 बजे प्रदूषण का एयर क्वालिटी इंडेक्स लेवल 177 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया है। प्रदूषण का स्तर ग्रीन से सीधे येलो जोन में पहुंच गया है।

वहीं पंचकूला में एक्यूआइ 134 दर्ज किया गया। मोहाली में इसका स्तर 180 रहा। हालांकि ट्राइसिटी में प्रदूषण का इतना असर देखने को नहीं मिल रहा है, जितना दूसरे शहरों पर पड़ा है। पंजाब और हरियाणा के अधिकतर शहर मंगलवार सुबह आरेंज जोन में रहे। यहां प्रदूषण का स्तर 200 से 250 के बीच में है।