भाजपा के जुमले चलने वाले नहीं, कांग्रेस की गारंटियों पर जनता को भरोसा: सुखविंदर सिंह सुक्खू

Spread the News

शिमला: कांग्रेस प्रचार कमेटी के प्रमुख सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि प्रदेश की जनता ने सत्ता परिवर्तन का मन बना लिया है। चुनावों में भाजपा के जुमले चलने वाले नहीं है। प्रदेश की जनता ने भाजपा की पांच साल की सरकार देखी है जो प्रदेश के विकास कराने में नाकाम रही है। भाजपा की डबल इंजन सरकार भी पूरी तरह नाकाम रही है। प्रदेश की जनता महंगाई से परेशान है। युवाओं को रोजगार देने में भाजपा सरकार पूरी तरह नाकाम रही है। वहीं कर्मचारी वर्ग भी सरकार से परेशान है। आज पूरे प्रदेश में महिलाएं, युवा और कर्मचारी सरकार के खिलाफ सड़कों पर आंदोलन कर रहे हैं। लेकिन सरकार के पास जनता की आवाज सुनने के लिए समय ही नहीं रहा है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पूरी तरह फ्लॉप मुख्यमंत्री साबित हुए हैं। हिमाचल प्रदेश पांच साल भाजपा सरकार के समय विकास के मामले में पचास साल पीछे हो गया है। भाजपा सरकार ने विकास नहीं किया बल्कि हिमाचल का विनाश किया है। जयराम ठाकुर चुनावों के समय जनता के बीच जाकर पांच साल का रिपोर्ट कार्ड जनता के सामने पेश नहीं कर रहे हैं और झूठे जुमलों से जनता को गुमराह कर रहे हैं। प्रदेश की जनता अब भाजपा के जुमलों से गुमराह होने वाली नहीं है। जनता ने परिवर्तन का मन बना लिया है और जिससे भाजपा सरकार की विदाई तय है।

सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि प्रदेश की जनता को कांग्रेस पर भरोसा है। कांग्रेस ने महिलाओं को 1500 रुपए प्रतिमाह सम्मान राशि देने की गारंटी दी है। महंगाई से परेशान महिलाओं को कांग्रेस की गारंटियों पर भरोसा है। जिससे प्रदेश की महिलाएं कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए तैयार हैं। इसी तरह प्रदेश के हर परिवार को 300 यूनिट बिजली फ्री देने की गारंटी कांग्रेस ने दी है। सरकार बनते ही 300 यूनिट फ्री बिजली दी जाएगी। इसी तरह प्रदेश के लाखों कर्मचारियों की मांग है कि ओल्ड पेंशन स्कीम लागू की जाए। केंद्र की भाजपा सरकार ने कर्मचारियों की ओल्ड पेंशन स्कीम बंद की थी। कांग्रेस की राजस्थान और छत्तीसगढ़ की सरकार ने ओल्ड पेंशन स्कीम लागू की है। हिमाचल में सरकार बनने के बाद पहली कैबिनेट में ओल्ड पेंशन स्कीम लागू करने का निर्णय लिया जाएगा। इसी तरह युवाओं को सरकारी नौकरी देने की गारंटी कांग्रेस ने दी है। सरकार बनते ही सरकारी विभागों में खाली सभी पदों को भरा जाएगा। इसके साथ ही सरकारी नौकरी में ठेकेदारी प्रथा को बंद किया जाएगा। ठेकेदारी प्रथा से युवाओं को शोषण हो रहा है और नौकरी देने में भी अन्याय हो रहा है। जिसे सरकार बनने पर तत्काल बंद किया जाएगा।