सुरक्षा जरूरतें और सीमावर्ती क्षेत्रों का होगा आर्थिक विकास: Rajnath Singh

लेह: केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को लद्दाख दौरे के दौरान आयोजित एक समारोह में छह राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों में फैली 75 बीआरओ बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित किया। इनमें 45 पुल, 27 सड़कें, दो हेलीपैड और एक कार्बन न्यूट्रल हैबिटेट शामिल हैं। इनमें से 20 परियोजनाएं जम्मू और कश्मीर संभाग में निर्मित की गई हैं। लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में 18-18, उत्तराखंड में पांच और 14 अन्य सीमावर्ती राज्य सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, पंजाब और राजस्थान में हैं। रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण परियोजनाओं का निर्माण बीआरओ द्वारा रिकॉर्ड समय में 2,180 करोड़ रुपये की कुल लागत से किया है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि परियोजनाएं देश की रक्षा तैयारियों को बढ़ावा देंगी और सीमावर्ती क्षेत्रों के आर्थिक विकास को सुनिश्चित करेंगी। आयोजन का मुख्य आकर्षण 14,000 फीट की ऊंचाई पर डी-एस-डीबीओ रोड पर 120 मीटर लंबे क्लास 70 श्योक सेतु का उद्घाटन रहा। पुल सामरिक रूप से अहम है। पूर्वी लद्दाख के हानले और थाकुंग में दो हेलीपैड भी निर्मित किए गए हैं। ये हेलीपैड क्षेत्र में भारतीय वायु सेना की परिचालन क्षमताओं को बढ़ाएंगे।