गैंगस्टर टीनू का गुर्गा गिरफ्तार, पूछताछ में उगले कई राज, टीनू के कहने पर बर्खास्त CIA इंचार्ज प्रितपाल को करवाई थी शॉपिंग

Spread the News

चंडीगढ़: गैंगस्टर टीनू का पंजाब पुलिस की कस्टडी से फरार होना कोई इत्तेफाक नहीं था, इसमें पंजाब के मोगा क्राइम इन्वैस्टीगेशन एजेंसी (सीआईए) के पूर्व इंचार्ज प्रितपाल सिंह का पूरा सहयोग रहा है। यह राज डिस्ट्रिक्ट क्राइम सेल द्वारा गिरफ्तार किए गए गैंगस्टर टीनू के गुर्गे ने पुलिस कस्टडी में खोले हैं। डिस्ट्रिक्ट क्राइम सेल इंचार्ज नरेंद्र पटियाल की अगुवाई में बनी टीम ने सैक्टर 26 बापूधाम निवासी मोहित भारद्वाज (32) को गिरफ्तर किया है। उसके पास से सैल को स्टार मॉडल 30, मेड इन यूएसए पिस्टल बरामद हुई है। मोहित को यह पिस्टल गैंगस्टर टीनू के गुर्गे ने ही दिलवाई थी। जिसकी भनक क्राइम सेल इंचार्ज नरेंद्र पटियाल को लगी थी।

जिसके बाद उसे शास्त्री नगर लाइट प्वाइंट के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। वह इंदिरा कॉलोनी में अपने किसी साथी से मिलने के लिए जा रहा था। जिसके बाद उसके खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। वह 31 अक्तूबर तक पुलिस रिमांड पर है।

पूर्व सीआईए इंचार्ज प्रितपाल से भी नजदीकी

सूत्रों की मानें तो 14 जुलाई 2022 में प्रितपाल चंडीगढ़ पहुंचा था। उसकी यहां पर मुलाकात आरोपी मोहित भारद्वाज से हुई थी। यह मुलाकात जेल में बंद गैंगस्टर टीनू के जरिये दोनों के बीच में बातचीत करवा कर की गई थी। प्रितपाल के चंडीगढ़ पहुंचने पर मोहित द्वारा उसे शहर के नामी क्लब में घुमाया गया था। इसके बाद शहर के ही एक नामी होटल में प्रितपाल ने रात गुजारी थी। इसी के साथ प्रितपाल ने एलांते मॉल व कई अन्य जगहों से मोहित के कार्ड से शॉपिंग भी की थी, जिसके अगले दिन ही 15 जुलाई को प्रितपाल चंडीगढ़ से लौट गया था। सूत्र कहते हैं कि प्रितपाल पूरी तरह से टीनू की सहायता कर रहा था। इसकी एवज में वह टीनू के गुर्गों के जरिए ऐश-परस्ती किया करता था।

आरोपी गैंगस्टर टीनू का है नजदीकी सूत्रों के अनुसार अभी तक की जांच में सामने आया है कि आरोपी मोहित भारद्वाज संपत नेहरा का सहपाठी रहा है। काफी वर्ष पहले वह संपत नेहरा के संपर्क में था, लेकिन कुछ समय पहले वह गैंगस्टर टीनू के संपर्क में आ गया और उसके कहने पर सारे काम करना शुरू कर दिया। इन्हीं गैंगस्टरों के नामों का इस्तेमाल कर मोहित चंडीगढ़ के क्लबों में जाता रहा है।