वांग यी ने चीन में नये अमेरिकी राजदूत बर्न्स से मुलाकात की

Spread the News

चीनी स्टेट कांसुलर, विदेश मंत्री वांग यी ने 28 अक्तूबर को अमेरिकी राजदूत आर. निकोलस बर्न्स के आगमन को स्वीकार किया, और चीन में अपना नया पद ग्रहण करने के लिए बर्न्स का स्वागत किया। साथ ही, सीपीसी की 20वीं राष्ट्रीय कांग्रेस में प्राप्त बड़ी उपलब्धियों और इसके बड़े महत्व के बारे में परिचय दिया।

वांग यी ने कहा कि अमेरिका-चीन संबंध एक महत्वपूर्ण मोड़ पर हैं। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय आमतौर पर चीन-अमेरिका संबंधों के स्थिर विकास की अपेक्षा करता है। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कहा कि चीन और अमेरिका को एक-दूसरे का सम्मान करना चाहिए, शांति से सह-अस्तित्व में रहना चाहिए और सहयोग करना चाहिए और जीत हासिल करनी चाहिए। यह चीन और अमेरिका के बीच संबंध विकसित करने का सबसे बुनियादी सिद्धांत है। दो प्रमुख शक्तियों के रूप में, चीन और अमेरिका एक दूसरे की जगह नहीं ले सकते। अमेरिका को हमेशा चीन के विकास को दबाने और रोकने के बारे में नहीं सोचना चाहिए। चीन में राजदूत के रूप में, मुझे आशा है कि आप चीन और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच एक सेतु और कड़ी होंगे।

वहीं, बर्न्स ने कहा कि उन्होंने सीपीसी की 20वीं राष्ट्रीय कांग्रेस पर बहुत ध्यान दिया और 20वीं राष्ट्रीय कांग्रेस की रिपोर्ट का ध्यानपूर्वक अध्ययन किया। चीनी पक्ष द्वारा परिचय अमेरिकी पक्ष की समझ को गहरा करने में मदद करेगा। अमेरिका-चीन संबंध दोनों देशों और दुनिया के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। अमेरिका चीन के साथ संचार को मजबूत करने, मतभेदों को प्रबंधित करने और सहयोग को बढ़ावा देने के लिए तैयार है।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)