Imran Khan ने अभिनय के मामले में Shah Rukh Khan और Salman Khan को भी छाेड़ा पीछे : Fazal-ur-Rehman

इस्लामाबादः पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के प्रमुख मौलाना फजलूर रहमान ने कटाक्ष करते हुए कहा है कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान पर हमला एक ‘‘नाटक’’ था और उन्होंने अभिनय के मामले में शाहरुख खान और सलमान खान को भी पछाड़ दिया है। खान बृहस्पिवार को दाएं पैर में गोली लगने से घायल हो गए थे। सफल ऑपरेशन के बाद उन्हें रविवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। उन्हें अब लाहौर में एक निजी आवास में ले जाया गया है। खबराें के अनुसार, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष 70 वर्षीय खान को गोली लगने पर शंका जाहिर करते हुए पीडीएम और जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फजल (जेयूआई-एफ) के प्रमुख रहमान ने कहा कि ‘खान ने अभिनय कौशल के मामले में बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान और सलमान खान को भी पीछे छोड़ दिया है।’’

रहमान के हवाले से क्रिकेटर से नेता बने खान के बारे में कहा, कि ‘वजीराबाद की घटना के बाद शुरू में मुझे इमरान खान से सहानुभूति थी लेकिन अब ऐसा लगता है कि यह एक नाटक था।’’ उन्होंने कहा कि खान की चोटों को लेकर भ्रम सवाल उठाने के लिए काफी थे। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह स्पष्ट नहीं है कि ‘‘इमरान पर एक गोली चलाई गई या अधिक’’ और क्या चोट ‘‘एक पैर में या दोनों पर’’। मौलाना फजल ने यह भी कहा कि यह दिलचस्प है कि खान को ‘‘पास के अस्पताल (वजीराबाद में) में भर्ती कराने के बजाय लाहौर ले जाया गया’’।

जेयूआई-एफ प्रमुख ने पीटीआई के इस दावे का विरोध किया कि बृहस्पतिवार को गुक्खर में लॉन्ग मार्च के दौरान एक व्यक्ति द्वारा चलाई गई गोलियों के ‘‘टूटे हुए टुकड़े’’ से खान घायल हो गए थे। उन्होंने कहा, कि ‘यह कैसे संभव है कि एक गोली टुकड़े-टुकड़े हो गई? हमने बम के टुकड़े के बारे में सुना है, लेकिन गोली के बारे में नहीं। अंधे लोगों ने खान के झूठ को स्वीकार कर लिया है। जब हमने खान पर हमले के बारे में सुना तो हमने (गोलीबारी की घटना) भी निंदा की.. चाहे वह एक, दो, या चार गोलियां या टुकड़े हों। हमने बम के टुकड़े सुने हैं लेकिन पहली बार गोलियों के टुकड़ों के बारे में सुना है।’’

फजल ने हैरानी से कहा, कि ‘आखिर गोली से लगी चोटों के लिए उनका इलाज कैंसर अस्पताल में क्यों किया जा रहा है?’’ गोली लगने से घायल हुए खान का ऑपरेशन उनके परमार्थ संगठन द्वारा संचालित शौकत खानम अस्पताल में किया गया। फजलूर ने कहा कि इमरान जो दूसरों को ‘चोर’ कहते थे अब खुद ‘चोर’ बन गए हैं। 69 वर्षीय नेता ने कहा, ‘‘उनके झूठ की जांच के लिए संयुक्त जांच दल (जेआईटी) का गठन किया जाना चाहिए।’’ शौकत खानम अस्पताल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ फैसल सुलतान ने रविवार को कहा था कि खान को पूरी तरह से ठीक होकर राजनीतिक गतिविधियों में सक्रिय रहने के लिए कम से कम पांच हफ्तों का आराम चाहिए।