Nepal में आया 6.6 तीव्रता का शक्तिशाली भूकंप, 6 लोगों की मौत, 5 घायल

Spread the News

काठमांडोः नेपाल में आए 6.6 तीव्रता के शक्तिशाली भूकंप से 6 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 5 अन्य लोग घायल हो गए। वहीं, नेपाल की सीमा से लगे उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के पास हिमालयी क्षेत्र में मंगलवार देर रात 6.3 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया। नेपाल के राष्ट्रीय भूकंप निगरानी केंद्र के अनुसार, नेपाल में देर रात दो बजकर 12 मिनट पर 6.6 तीव्रता का भूकंप का झटका महसूस किया गया। इसका केंद्र डोटी जिले में था। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता फणींद्र पोखरेल ने बताया कि भूकंप से 6 लोगों की मौत हो गई। पोखरेल ने फोन पर बताया कि गंभीर रूप से घायल पांच लोगों को डोटी के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। भूंकप में एक पुलिस चौकी और आठ मकानों के ढहने की सूचना है।

डोटी जिले के पुलिस उपाधीक्षक भोला भट्टा ने बताया कि भूकंप के दौरान कई मकान क्षतिग्रस्त हुए और उसके मलबे में दबने से लोगों की मौत हुई है। नेपाल की सेना और पुलिस राहत एवं बचाव अभियान में जुटे हुए हैं। नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा देर रात जब भूंकप आया तो पश्चिमी नेपाल में मौजूद थे। वह भूकंप के केंद्र से 160 किलोमीटर दक्षिण में धनगढ़ी जिले चुनावी रैलियों के लिए गए हुए हैं। पोखरेल के अनुसार, भूकंप के झटके धनगढ़ी में भी महसूस किए गए। हालांकि प्रधानमंत्री सुरक्षित हैं।

नेपाली सेना के प्रवक्ता नारायण सिलवाल के अनुसार, तीन लोग लापता हैं और संदेह है कि पूर्वीचौकी में मकान ढहने के कारण वे मलबे में फंस गए हैं। उन्होंने बताया कि सेना ने लापता लोगों की तलाश शुरू कर दी है। पड़ोसी धनगढ़ी और कैलाली जिलों में भी झटके महसूस किए गए। इससे पहले पश्चिमी नेपाल में भूकंप के दो झटके महसूस किए गए। मंगलवार रात नौ बजकर सात मिनट पर 5.7 तीव्रता का और इसके कुछ देर बाद रात नौ बजकर 56 मिनट पर 4.1 तीव्रता का भूकंप का झटका महसूस हुआ। भूकंप के झटके उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और गुरुग्राम और गाजियाबाद सहित पूरे उत्तर भारत में महसूस किए गए। भारत के राष्ट्रीय भूकंप विज्ञन केन्द्र (एनसीएस) के अनुसार, देर रात एक बजकर 57 मिनट पर 6.3 तीव्रता का भूकंप आया, जिसका केंद्र उत्तराखंड के पिथौरागढ़ से लगभग 90 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण पूर्व में नेपाल में था।