उड्डयन मंत्री Jyotiraditya Scindia से मिले MP विक्रमजीत सिंह, की पंजाब से कनाडा के लिए सीधी उड़ानें शुरू करने की अपील

Spread the News

चंडीगढ़: राज्यसभा सांसद विक्रमजीत सिंह ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को पत्र लिखकर पंजाब से कनाडा के लिए सीधी उड़ानें शुरू करने की अपील की है। गत दिवस G20 समिट के दौरान भारत और कनाडा के मध्य हुए समझौते के ऐलान, जो दोनों देशों के मध्य असीमित हवाई उड़ानों की इजाजत देता है। विक्रमजीत सिंह ने इसका का स्वागत करते हुए केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री को एक पत्र लिखकर टोरंटो, वेंकूवर और मोंट्रियल से अमृतसर व मोहाली हवाई अड्डों के मध्य सीधी उड़ानें शुरू करने की अपील की है।

विक्रमजीत ने कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि भारत और कनाडा के मध्य असीमित हवाई उड़ानों के ऐतिहासिक ऐलान के अवसर पर नागरिक उड्डयन मंत्रालय तुरंत अमृतसर और मोहाली हवाई अड्डों को एयर सर्विस एग्रीमेंट के तहत पॉइंट ऑफ कॉल (पीओसीज) की अनुमति प्रदान करेगा और हम पंजाब से कनाडा के बीच सीधी हवाई उड़ानों को देख सकेंगे, जिससे यात्रियों को आने वाली दिक्कतों का हल होगा, जिन्हें कनाडा के लिए फ्लाइट्स लेने के लिए दिल्ली जाना पड़ता है। उन्होंने कहा कि विदेशी एयरलाइंस द्वारा सेवाएं भारत और संबंधित देश के मध्य द्विपक्षीय एयर सर्विस एग्रीमेंट(एएसए) के तहत दी जाती हैं। कोई भी विदेशी एयरलाइन भारत में एक पॉइंट (एयरपोर्ट) पर तभी आ जा सकती है, यदि उसे एएसए के तहत पॉइंट ऑफ कॉल जारी किया जाए।

गौरतलब है कि पंजाब में दो अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्टस अमृतसर और मोहाली हैं, लेकिन किसी के पास कनाडा की एयरलाइंस के लिए पॉइंट ऑफ काल की अनुमति नहीं है। विक्रमजीत सिंह ने कहा कि 2021 की कनाडियन जनगणना के मुताबिक वहां करीब 9,50,000 पंजाबी कनेडियन हैं और यह कनाडा की जनसंख्या का लगभग 2.6 प्रतिशत है। पंजाब और कनाडा के मध्य सांस्कृतिक व व्यापारिक संबंध विश्व प्रसिद्ध हैं। इससे पंजाब और भारत पेश आ रहे वित्तीय घाटे को भी फायदा मिलेगा। पंजाब भारत का एक रणनीतिक औद्योगिक हब और अनाज का भंडार भी है। पंजाब के उद्योगों का कनाडा में बहुत अच्छा नेटवर्क है और यह उद्योग कई इंडस्ट्रीज को बहुत सारे उत्पाद निर्यात करते हैं। ऐसे में पंजाब से कनाडा के मध्य सीधी हवाई उड़ानें शुरू होने के बाद एग्रो प्रोसेसिंग इंडस्ट्री आसानी से कार्गो फ्लाइटस से अपने उत्पाद वहां भेज सकेगी।