Amit Shah 20 नवंबर को करेंगे महाराष्ट्र में शिवसृष्टि के पहले चरण का उद्घाटन

Spread the News

पुणो: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 20 नवंबर को छत्रपति शिवाजी महाराज के जीवन पर आधारित एक ऐतिहासिक थीम-पार्क, नरहे-अंबेगांव में शिवसृष्टि के पहले चरण का उद्घाटन करेंगे।

इस परियोजना की परिकल्पना दिवंगत पद्म विभूषण शिवशहर बाबासाहेब पुरंदरे ने की थी। उन्होंने इसके क्रियान्वयन के लिए महाराजा शिवछत्रपति प्रतिष्ठान का गठन किया था। इस उद्घाटन समारोह की जानकारी प्रतिष्ठान के ट्रस्टी जगदीश कदम ने दी। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, सांसद (राज्यसभा) उदयनराजे भोसले, पुणो के संरक्षक मंत्री चंद्रकांत पाटिल और महाराष्ट्र के पर्यटन मंत्री मंगलप्रभात लोढ़ा भी उद्घाटन समारोह में मौजूद रहेंगे।

उन्होंने बताया कि प्रतिष्ठान का गठन 1967 में सतारा के स्वर्गीय छत्रपति राजमाता सुमित्रराजे भोंसले और स्वर्गीय छत्रपति महाराज श्रीमंत प्रतापसिंह राजे भोसले द्वारा किया गया था। साल 1974 में शिवाजी महाराज के राज्याभिषेक समारोह के 300 साल बाद, महाराजा शिवछत्रपति प्रतिष्ठान ने मुंबई के शिवाजी पार्क में विशाल कार्यक्रमों और प्रदर्शनियों का आयोजन किया। फिर छत्रपति शिवाजी महाराज के जीवन के बारे में जागरुकता पैदा करने के उद्देश्य से, 1998-99 में ‘शिवश्रृंष्टि’ परियोजना शुरु की गयी।

उन्होंने बताया कि यह एशिया का सबसे बड़ा ऐतिहासिक थीम पार्क है और इसके पहले चरण का उद्घाटन शाह करेंगे। शाह पहले चरण के प्रमुख तत्व – सरकारवाड़ा – एक वास्तुशिल्प अभिव्यक्ति का उद्घाटन करेंगे, जो एक प्रशासनिक केंद्र, अनुसंधान पुस्तकालय, बहुउद्देशीय हॉल और प्रदर्शनी दीर्घाओं से सुसज्जित है। इसके अलावा, आगंतुक 3डी तकनीक के माध्यम से विभिन्न किलों, राज्याभिषेक का दृश्य और छत्रपति शिवाजी महाराज के आगरा से भागने की कहानी भी देख सकेंगे। चार चरणों में बनने वाले थीम पार्क का कुल खर्च 438 करोड़ रुपये है और परियोजना के पहले चरण के लिए 60 करोड़ रुपये का दान प्राप्त हुआ है। श्री पुरंदरे द्वारा दिए गए 12,000 से अधिक व्याख्यानों और‘जनता राजा’के नाटकों के माध्यम से एकत्रित धन का उपयोग भी परियोजना के लिए किया गया है।

आगंतुक ऐतिहासिक थीम पार्क में एक दिन की यात्रा का अनुभव कर सकते हैं, जो 21 एकड़ भूमि पर बन रहा है और निकट भविष्य में पूरा हो जाएगा। इसकी एक विशेषता महत्वपूर्ण किलों की आभासी माध्यम से स्क्रीनिंग करना है। कदम ने बताया कि पर्यटक थीम पार्क में प्रतापगढ़ पर भवानी माता मंदिर, शस्त्रगार, शिवाजी महाराज की मुद्रा, विजयस्तंभ (विजय स्मारक), राजवाड़ा, रंगमंदिर, नागरखाना और बाजार भी देख सकेंगे। थीम पार्क की एक और विशेषता यह है कि आगंतुक मैड मै¨पग तकनीक के माध्यम से शिवाजी महाराज को सुन सकेंगे। यह परियोजना अत्याधुनिक तकनीक का उपयोग करके बनाई गई है, जिसमें कोई कसर नहीं छोड़ी गई है। थीम पार्क एक दिसंबर से आम लोगों के लिए खुल जाएगा और इसके लिए ऑनलाइन बुकिंग अनिवार्य है।