मध्य पूर्व में परमाणु हथियार रहित क्षेत्र की स्थापना के लिए तरीका खोजने की अपील- चीन

Spread the News

संयुक्त राष्ट्र स्थित चीनी उप स्थाई प्रतिनिधि कंग श्वांग ने 15 नवंबर को अंतरराष्ट्रीय समुदाय से मध्य पूर्व में परमाणु हथियार और अन्य बड़े पैमाने वाले विनाशकारी हथियार रहित क्षेत्र की स्थापना के लिए तरीका खोजने की अपील की।

उस दिन परमाणु हथियारों और अन्य बड़े पैमाने वाले विनाशकारी हथियारों से मुक्त मध्य पूर्व क्षेत्र की स्थापना पर तीसरा सम्मेलन आयोजित हुआ, जिसमें कंग श्वांग ने कहा कि मध्य पूर्व में इतिहास और वास्तविकता के बीच संघर्ष जटिल और आपस में जुड़े हुआ है। अभ्यास ने लंबे समय से साबित किया है कि सैन्य टकराव सही रास्ता नहीं है, संवाद और सहयोग क्षेत्रीय सुरक्षा हासिल करने का यथार्थवादी तरीका है। चीन सभी देशों को समान सुरक्षा की अवधारणा को बनाए रखने, संवाद और संचार को मजबूत करने, तनाव कम करने, संघर्षों और मतभेदों को प्रबंधित करने, गलतफहमी और शत्रुता को खत्म करने, आपसी विश्वास को बनाए रखने, और एक दूसरे की सुरक्षा व चिंताओं के अंतिम राजनीतिक और कूटनीतिक समाधान के लिए अनुकूल स्थिति तैयार करने के लिए प्रोत्साहित करता है। कंग श्वांग ने यह भी कहा कि सभी देशों को विभिन्न औपचारिक या अनौपचारिक क्षेत्रीय संवाद मंच बनाना चाहिए, निरंतर संवाद प्रक्रिया बनाए रखनी चाहिए, परमाणु हथियारों और अन्य बड़े पैमाने वाले विनाशकारी हथियारों से मुक्त मध्य पूर्व क्षेत्र की स्थापना के लिए व्यावहारिक रास्ते और यथार्थवादी समाधान खोजने का प्रयास करना चाहिए। चीन द्वारा प्रस्तावित “खाड़ी क्षेत्र बहुपक्षीय संवाद मंच” वाली पहल इस दिशा में सकारात्मक योगदान दे सकती है।

कंग श्वांग ने कहा कि प्रमुख शक्तियों के बीच प्रतिस्पर्धा और बाहरी हस्तक्षेप मध्य पूर्व में उथल-पुथल जारी होने के महत्वपूर्ण कारण हैं। चीन संबंधित देशों से संकीर्ण राजनीतिक स्वार्थों और टकराव को भड़काने की गलत प्रथा को छोड़कर क्षेत्रीय सुरक्षा को बनाए रखने के लिए ठोस योगदान देने का आग्रह करता है। चीन संबंधित पक्षों के साथ मिलकर मध्य पूर्व में परमाणु हथियारों और अन्य बड़े पैमाने वाले विनाशकारी हथियारों से मुक्त क्षेत्र स्थापित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय में ज्यादा आम सहमतियां प्राप्त करना और अधिक शक्ति डालना चाहता है।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)