11वीं पाकिस्तान रक्षा प्रदर्शनी में चीनी सैन्य व्यापार कंपनियों की भागीदारी

Spread the News

11वीं पाकिस्तान रक्षा प्रदर्शनी और संगोष्ठी 15 नवंबर को दक्षिण पाकिस्तान के कराची में उद्घाटित हुई, चीनी राष्ट्रीय रक्षा के लिए विज्ञान, प्रौद्योगिकी और उद्योग ब्यूरो द्वारा 7 सैन्य व्यापार कंपनियों से गठित चीनी प्रतिनिधिमंडल ने इसमें भाग लिया।

जानकारी के मुताबिक, 4 दिवसीय मौजूदा प्रदर्शनी में 50 से अधिक देशों के प्रतिनिधिमंडलों को आकर्षित किया गया। चीनी प्रतिनिधिमंडल सबसे बड़े पैमाने वालों में से एक है। इस दौरान यीलोंग श्रृंखला, इंद्रधनुष श्रृंखला, डब्ल्यूजे-700 आदि बहु-प्रकार यूएवी और एकीकृत एंटी-यूएवी सिस्टम, बहुक्रियाशील मानव रहित नाव, इलेक्ट्रॉनिक युद्ध रक्षा प्रणाली और संचार नेविगेशन प्रणाली आदि कई प्रकार के उच्च स्तरीय उपकरणों को प्रदर्शित किया जाएगा। पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो जरदारी ने प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में भाग लिया। उन्होंने चीनी प्रदर्शनी क्षेत्र का दौरा किया और संबंधित स्थिति को सुना। पाकिस्तान के रक्षा उत्पादन मंत्रालय में स्थाई मामला सचिव हुमायूँ अज़ीज़ ने चीनी समाचार एजेंसी शिनहुआ को दिए एक इन्टरव्यू में कहा कि चीनी सैन्य उपकरण और तकनीक विश्वविख्यात है। पाकिस्तान और चीन के बीच रक्षा सहयोग एक मॉडल है, उन्हें उम्मीद है कि दोनों देश भविष्य में सहयोग को लगातार मजबूत करेंगे।

चीनी राष्ट्रीय रक्षा के लिए विज्ञान, प्रौद्योगिकी और उद्योग ब्यूरो के अधिकारी ने कहा कि हाल के वर्षों में इस ब्यूरो ने विदेशों में आयोजित क्षेत्रीय या अंतरराष्ट्रीय रक्षा प्रदर्शनियों में भाग लेने के लिए कई बार चीनी प्रतिनिधिमंडल को गठित किया। इसका उद्देश्य चीनी सैन्य श्रेष्ठ उपकरण और रक्षा प्रौद्योगिकी को प्रदर्शित करके रक्षा विज्ञान और प्रौद्योगिकी उद्योग में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और आदान-प्रदान को बढ़ावा देना, रक्षा और सुरक्षा का साझा समुदाय बनाना, और क्षेत्रीय शांति व स्थिरता बनाए रखना है। बता दें कि पाकिस्तान रक्षा प्रदर्शनी साल 2000 में शुरु हुई, इसके बाद हर दो साल में एक बार आयोजित की जाती है। 2020 में कोरोना महामारी की वजह से एक सत्र निलंबित कर दिया गया। यह प्रदर्शनी अब एशिया में एक प्रभावशाली रक्षा प्रदर्शनी बन गई है।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)