मान सरकार ने 180 लाख मीट्रिक टन धान खरीद कर किसानों के खातों में भेजे 34 हज़ार करोड़ रुपए

Spread the News

चंडीगढ़: मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने मौजूदा धान के सीजन की शुरुआत से पहले सभी संबंधित पक्षों किसान, मज़दूर, मिल्लर और आढ़तियों से किए वादे को पूरा किया है। उन्होंने वादा किया था कि उनको इस सीजन के दौरान कोई भी समस्या पेश नहीं आने दी जाएगी। सरकार अपने इस वायदे पर पूरी तरह खरी उतरी है जिसका प्रमाण इसी बात से मिलता है कि सरकार ने 184 लाख मीट्रिक टन धान के लक्ष्य में से अब तक 180 लाख मीट्रिक टन की खरीद भारत सरकार द्वारा निर्धारित किये न्यूनतम समर्थन मूल्य 2060 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से की जा चुकी है। बाकी की खरीद भी आज शाम तक मुकम्मल हो जाएगी।

पंजाब के ख़ाद्य, सिविल सप्लाई और उपभोक्ता मंत्री लाल चंद कटारूचक्क ने बताया कि इस बार मंडियों में किसानों को कोई भी मुश्किल पेश नहीं आने दी गई और समय पर खरीद और ढुलाई की गई। खरीद के केवल 4 घंटे बाद ही किसानों को उनके बैंक खातों में अदायगियाँ कर दी गई। मंत्री ने बताया कि राज्य सरकार की तरफ से किसानों की सुविधा के लिए मंडियों में 1806 रिवायती खरीद केंद्र और 583 सार्वजनिक स्थानों के इलावा 37 राइस मिलों को अस्थायी खरीद केंद्र घोषित करके अलॉटमैंट की गई, जिससे किसानों को कोई कठिनाई न हो।

उन्होंने आगे बताया कि राज्य की खरीद एजेंसियों की तरफ से ख़रीदे गए धान के किसानों को अब तक 34263.40 करोड़ रुपए ख़ाद्य, सिवल सप्लाई और उपभोक्ता मामले विभाग के द्वारा अदा किए जा चुके हैं। उन्होंने आगे बताया कि राज्य के बहुत से जिलों की मंडियों में धान की सरकारी खरीद आज से बंद की जा चुकी है और कुछ स्थानों पर रहती खरीद प्रक्रिया भी आज शाम तक मुकम्मल हो जाएगी। इस मौके पर दूसरों के इलावा ख़ाद्य, सिवल सप्लाई और उपभोक्ता मामले विभाग के प्रमुख सचिव राहुल भंडारी, डायरैक्टर घनश्याम थोरी और अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।