अगले टी-20 विश्वकप का रोडमैप अभी से, हार्दिक पांड्या बोले- कई खिलाड़ियों को मिलेगा मौका

Spread the News

वेलिंगटन: भारत के कार्यवाहक टी20 कप्तान हार्दिक पंड्या ने कहा कि 2024 टी20 विश्व कप का रोडमैप अभी शुरू हो गया है और कई खिलाड़ियों को टीम में जगह बनाने का दावा पुख्ता करने का मौका दिया जाएगा। भारतीय टीम आस्ट्रेलिया में हुए टी20 विश्व कप के सैमीफाइनल में इंगलैंड से 10 विकेट से हार गई। न्यूजीलैंड के खिलाफ 3 मैचों की टी20 शृंखला में भारत की कप्तानी कर रहे पंड्या ने कहा कि टीम को विश्व कप की नाकामी से उबरना होगा। उन्होंने कहा,‘हम सभी जानते हैं कि विश्व कप के प्रदर्शन से निराशा है लेकिन हम पेशेवर हैं और इससे उबरना होगा। हम जैसे सफलता को पीछे छोड़ देते हैं, वैसे ही इस असफलता को भी भुलाकर आगे की ओर देखना होगा। अपनी गलतियों से सबक लेना होगा।’

अगला टी20 विश्व कप 2024 में वैस्ट इंडीज और अमरीका में खेला जाएगा। ऐसी संभावना है कि अगले 2 साल में भारतीय टीम में काफी बदलाव होंगे और विराट कोहली तथा रोहित शर्मा जैसे कई सीनियर खिलाड़ियों की रवानगी होगी। पंड्या ने कहा,‘अगले टी20 विश्व कप में अभी 2 साल है। हमारे पास नई प्रतिभाएं तलाशने के लिए समय है। काफी क्रिकेट खेली जाएगी और कई खिलाड़ियों को मौके मिलेंगे।’ उन्होंने कहा,‘रोडमैप अभी से शुरू होता है लेकिन अभी बहुत जल्दबाजी है। हमारे पास काफी समय है तो हम आराम से इस पर विचार करेंगे। फिलहाल यह सुनिश्चित करना है कि खिलाड़ी यहां खेलने का मजा लें।

भविष्य के बारे में बाद में बात करेंगे।’ शृंखला में विराट, रोहित, केएल राहुल, दिनेश कार्तिक और रविचंद्रन अश्विन को कार्यभार प्रबंधन के तहत आराम दिया गया है। उनकी गैर मौजूदगी में शुभमन गिल, उमरान मलिक, इशान किशन और संजू सैमसन को मौका दिया गया है। पंड्या ने कहा,‘सीनियर खिलाड़ी यहां नहीं है लेकिन जिन्हें चुना गया है, वे भी डेढ़-2 साल से खेल रहे हैं। उन्हें काफी मौके दिए गए और क्रिकेट में वे अपनी उपयोगिता साबित कर चुके हैं। नए खिलाड़ी, नई ऊर्जा, नया रोमांच।’

हमें किसी को कुछ साबित करने की जरूरत नहीं

न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 शृंखला के लिए भारत के कप्तान हार्दिक पंड्या ने इंगलैंड के पूर्व क्रिकेटर माइकल वॉन को जवाब देते कहा कि भारतीय खिलाड़ियों को ‘किसी को कुछ साबित करने की जरूरत नहीं है।’ उल्लेखनीय है कि वॉन ने टी20 विश्व कप 2022 के समापन के बाद डैली टैलीग्राफ अखबार में लिखा था कि भारत ने ‘सीमित ओवर क्रिकेट में हमेशा अपेक्षा से कम प्रदर्शन किया है।’ पंड्या ने कहा, ‘जब आप अच्छा प्रदर्शन नहीं करते तो लोग अपनी राय देंगे, जिसका हम सम्मान करते हैं। मैं समझता हूं कि लोगों का अलग-अलग नजरिया होता है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर होने के नाते, मुझे नहीं लगता कि हमें किसी को कुछ साबित करने की जरूरत है।’