पंजाब में अब असली तो क्या नकली पिस्तौल रखने वालों पर भी होगी कार्रवाई, सख्त हुई सरकार

Spread the News

डेराबस्सी: पंजाब सरकार हथियारों और इसके लाइसेंस को लेकर सख्त हो गई है। अब असली तो क्या नकली हथियार रखने पर भी कार्रवाई हो रही है। एक ऐसा ही मामला सामने आया है डेरबस्सी से जहां नौंवी के एक स्टूडेंट से नकली पिस्तौल मिली। जिससे स्कूल में सनसनी फैल गई है। हालांकि स्कूल प्रबंधकों ने यह नकली पिस्तौल डेराबस्सी पुलिस के हवाले कर स्कूली बच्चे की शिकायत की है, वहीं स्कूल गेट के बाहर सुबह व शाम दो पुलिस कर्मियों को तैनात करने की मांग की है।

चेकिंग के दौरान मिली पिस्तौल

स्टूडेंट्स के बैग की तालाशी ली जाती है। इसी दौरान बुधवार को छुट्‌टी से पहले नौंवी के एक स्टूडेंट का बैग चेक करने पर उसमें से एक नकली पिस्तौल बरामद की गई। अगले दिन वीरवार को स्कूल ने पुलिस बुलाकर स्टूडेंट के खिलाफ शिकायत और नकली पिस्तौल कार्रवाई के लिए उसके हवाले कर दी। प्रिंसीपल अलका मोंगा के अनुसार स्टूडेंट इसे किस उद्देश्य से स्कूल लाया था, यह अब पुलिस की जांच की विषय है।

इसके अलावा स्कूल के गेट के बाहर स्कूल लगने और छुट्‌टी के समय पुलिस कर्मी तैनात करने की स्कूल प्रबंधकों ने मांग की गई है। बाहरी स्टूडेंट्स से स्कूल के अंदर व बाहर माहौल खराब होने से बचाने का तर्क दिया है। हालांकि स्कूल गेट के बाहर आउटसाइडर्स के कारण न केवल लड़ाई झगड़े का खतरा बताया गया है परंतु इन आउटसाइडर्स से स्कूली छात्राओं को भी परेशानी झेलनी पड़ रही है। स्कूल गेट के सामने सुबह शाम बाइक पर आउटसाइडर्स का जमघट लगने लगा है जिससे स्टूडेंट्स को स्कूल आने और घर जाने में भी दिक्कत पेश आ रही हैं।

थाना प्रभारी जसकंवल सिंह सेखों ने कहा कि नकली पिस्तौल दरअसल एक एयरगन है। इसे बलैंक या क्लोज रेंज से चलाने पर जख्मी करने के साथ इसका शॉट जानलेवा भी बन सकता है। स्टूडेंट माहिवाला गांव का है जिसके पेरेंट्स को बुलाकर यह एयरगन रखने की मंशा का पता लगाया जा रहा है।